0%
8

All The Best

All The Best


Created on By aajkatopper

Physics

ALTERNATING CURRENT

ALTERNATING CURRENT TEST - 1

1 / 20

A resistance of 300Ω and an inductance of \frac{1}{\pi } henry are connected in series to a A.C. voltage of 20 volts and 200 Hz frequency. The phase angle between the voltage and current is :-
300Ω के प्रतिरोध और \frac{1}{\pi } हेनरी के एक प्रेरकत्व को 20 वोल्ट व 200 हर्ट्ज के प्रत्यावर्ती धारा स्त्रोत के साथ जोड़ा गया है। विभव और धारा के बीच कलान्तर होगा :

2 / 20

Frequency of A.C. in India is –
भारत में A.C. की आवृत्ति है

3 / 20

In an A.C. circuit resistance and inductance are connected in series. The potential and current in inductance is:
यदि एक A.C. परिपथ में प्रतिरोध तथा उसके श्रेणीक्रम में प्रेरकत्व लगा हो तब प्रेरकत्व के सिरों पर विभव व धारा होगी

4 / 20

A student connects a long air cored - coil of manganin wire to a 100 V D.C. supply and records a current of 25 amp. When the same coil is connected across 100 V. 50 Hz a.c. the current reduces to 20 A , the reactance of the coil is :-
एक विद्यार्थी, लम्बी वायु क्रोड कुण्डली (मैंगनीन तार की बनी) को 100 VD.C. से जोड़ता है तो 25 A धारा का मापन करता है। यदि इसे 100V, 50Hz A.C. से जोड़ता है तो धारा घट कर 20 A रह जाती है तो कुण्डली का प्रतिघात है:

5 / 20

For an alternating current I = I0cos ωt, What is the rms value and peak value of current :-
एक प्रत्यावर्ती धारा समीकरण I = Io cos ωt के लिये धारा का वर्ग माध्य मूल मान व शिखर मान क्या होगा ?

6 / 20

The r.m.s. value of current for a variable current i=i1 cos ωt + i2 sin ωt :–
एक परिवर्ती धारा i = i1 cos ωt + i2 sin ωt के लिए वर्ग माध्य मूल धारा होगी

7 / 20

A bulb and a capacitor are connected in series to a source of alternating current. If its frequency is increased, while keeping the voltage of the source constant, then
एक बल्ब व एक संधारित्र को किसी प्रत्यावर्ती स्त्रोत के श्रेणी क्रम में जोड़ा गया है यदि स्त्रोत के वोल्टेज को नियत रखते हुए इसकी आवृति को बढ़ा दिया जाये तब

8 / 20

Incorrect statement are :
असत्य कथन है :
(a) A.C. meters can measure D.C also
A.C. मीटर D.C. का मापन कर सकते है
(b) If A.C. meter measures D.C. there scale must be linear and uniform
यदि A.C. मीटर D.C. का मापन करे तो इनका पैमाना रेखीय एवं समरूप होना आवश्यक है
(c) A.C. and D.C. meters are based on heating effect of current
A.C. एवं D.C मीटर दोनों धारा के उष्मीय प्रभाव पर आधारित है।
(d) A.C. meter reads rms value of current
A.C. मीटर धारा के वर्ग माध्य मूल मान को पढ़ते हैं।

9 / 20

A current in circuit is given by i = 3 + 4 sin wt. Then the effective value of current is :
एक परिपथ में धारा i = 3+4 sinot से दी जाती है, धारा का प्रभावी मान है

10 / 20

If an A.C. main supply is given to be 220 V. What would be the average e.m.f. during a positive half cycle :-
यदि एक A.C. सप्लाई का वोल्टेज 220 V है। अर्धचक्र के लिए औसत वि.वा.बल का मान होगा:

11 / 20

An inductive circuit contains resistance of 10 ohms and an inductance of 20 H. If an A.C. voltage of 120 volt and frequency 60 Hz is applied to this circuit, the current would be nearly
एक प्रेरकीय परिपथ में 10 ओम का प्रतिरोध तथा 20 हेनरी का प्रेरकत्व है। यदि इस परिपथ में 120 वोल्ट तथा 60 हर्ट्ज की प्रत्यावर्ती वोल्टता लगायें, तो धारा होगी (लगभग)

12 / 20

A 12 ohm resistor and a 0.21 henry inductor are connected in series to an AC source operating at 20 volts, 50 cycle/second. The phase angle between the current and the source voltage is:
एक 120 के प्रतिरोध एवं 0.21H के प्रेरकत्व को श्रेणीक्रम में 20 वोल्ट, 50Hz के AC स्त्रोत से जोड़ा जाता है। धारा एवं स्त्रोत के वोल्टेज के मध्य कला होगी

13 / 20

The peak value of an alternating e.m.f. which is given by E = E0 cosωt is 10 volts and its frequency is 50 Hz. At time t = \frac{1}{600} s, the instantaneous e.m.f. is
प्रत्यावर्ती वि. वा. बल का मान E = Eo cosωt से प्रदर्शित किया गया है तथा इसका शिखर मान 10 वोल्ट व आवृत्ति 50 हर्ट्ज है t = \frac{1}{600} सेकण्ड पर वि.वा. बल का तात्क्षणिक मान होगा :

14 / 20

A 110 V, 60 W lamp is run from a 220 V AC mains using a capacitor in series with the lamp, instead of a resistor then the voltage across the capacitor is about:-
एक 110V,60W का लैम्प एक: VA.C. से श्रेणी क्रम में प्रतिरोध के बजाय एक संधारित्र लगाकर जलाया जाता है, तो संधारित्र के सिरों पर वोल्टता लगभग है:

15 / 20

What is the r.m.s. value of an alternating current which when passed through a resistor produces heat which is thrice of that produced by a direct current of 2 amperes in the same resistor :-
एक प्रतिरोध में 2 ऐम्पियर की दिष्टधारा से उत्पन्न ऊष्मा से तीन गुना ऊष्मा प्राप्त होती है, जब उसी प्रतिरोध में प्रत्यावर्ती धारा प्रवाहित होती है तो प्रत्यावर्ती धारा का वर्ग माध्य मूल मान होगा

16 / 20

The hot wire ammeter measures :-
धारा के तापीय प्रभाव पर आधारित अमीटर मापता है

17 / 20

Alternating current is flowing in inductance L and resistance R. The frequency of source is ω/2π. Which of the following statement is correct :
प्रेरकत्व L तथा प्रतिरोध R वाले परिपथ में प्रत्यावर्ती धारा प्रवाहित होती है। विद्युत स्त्रोत की आवृत्ति ω/2π है कथन सही है?

18 / 20

The graphs given below depict the dependence of two reactive impedances X1 and X2 on the frequency of the alternating e.m.f. applied individually to them. We can then say that :
नीचे दिये गये ग्राफ में दो प्रतिबाधाएँ, X1 एवं X2 की आरोपित प्रत्यावर्ती विद्युत वाहक बल की आवृत्ति पर निर्भरता दर्शायी गयी है तो हम कह सकते हैं:

19 / 20

A resonant A.C. circuit contains a capacitor of capacitance 10–6 F and an inductor of 10–4 H. The frequency of electrical oscillations will be :-
एक अनुनादी A.C परिपथ में धारिता का मान 10-6 फैराडे तथा प्रेरकत्व का मान 10–4 हेनरी है। इस परिपथ में विद्युत दोलनों की आवृत्ति होगी:

20 / 20

The resistance that must be connected in series with inductance of 0.2 H in order that the phase difference between current and e.m.f. may be 45° when the frequency is 50 Hz, is:-
वह प्रतिरोध, जो कि 0.2 हेनरी के प्रेरकत्व के श्रेणीक्रम में जोड़ा जाये ताकि 50 हर्ट्ज की आवृत्ति पर धारा और वि. वा. बल के मध्य कलांतर 45° हो, होगा :

Your score is

The average score is 28%

0%




Welcome to the online physics test series for the NEET & JEE entrance exam. On this page you can find chapter wise physics mock tests for the NEET & JEE  exam. Practicing physics questions is very important as it helps in clear the concepts over a period of time. With these NEET & JEE physics questions, you can get a boost in your confidence when it comes to problem-solving in physics.

  • The test is of 20-minutes duration and it contains 20 Questions.
  • Practicing such tests would give you added confidence while attempting your exam.
  • Why wait to take the test and get an instant evaluation.

Leave a Comment

Your email address will not be published.

You cannot copy content