0%
2

All The Best

All The Best


Created on By aajkatopper

Physics

ALTERNATING CURRENT

ALTERNATING CURRENT TEST - 4

1 / 20

In a parallel L-C-R circuit spring constant K is analogous to :-
समान्तर क्रम में L-C-R परिपथ में स्प्रिंग नियतांक K समतुल्य है

2 / 20

The instantaneous values of alternating current and voltages in a circuit are given as i =\frac{1}{\sqrt{2}}  sin (100 πt) ampere e = \frac{1}{\sqrt{2}} sin (100 πt + π/3) volt The average power in Watts consumed in the circuit is :-
किसी परिपथ में प्रत्यावर्ती विद्युत धारा तथा वोल्टता के तात्क्षणिक मानों को क्रमशः निम्न प्रकार निरूपित किया जाता है i = \frac{1}{\sqrt{2}} sin (100πt) एम्पियर तथा e = \frac{1}{\sqrt{2}}sin (100rt + π / 3) वोल्ट तो, इस परिपथ में क्षयित औसत शक्ति (वॉट में) होगी :

3 / 20

In an electrical circuit R, L, C and an a.c. voltage source are all connected in series. When L is removed from the circuit, the phase difference between the voltage and the current in the circuit is π/3. If instead, C is removed from the circuit the phase difference is again π/3. The power factor of the circuit is :
एक विद्युत परिपथ में R, L और C तथा एक ए. सी. (a.c.) वोल्टता स्त्रोत सभी श्रेणी क्रम में जुड़े है। परिपथ में से L को हटा देने से वोल्टता तथा विद्युत धारा के बीच कलान्तर π/3 होता है। यदि इसके बजाय C को परिपथ से हटा दिया जाय तो, यह कलान्तर फिर भी π/3 रहता है। तो, परिपथ का शक्ति गुणांक है

4 / 20

Consider following series R-L-C circuit.The maximum voltage drop across inductance is :-
निम्नलिखित श्रेणीक्रम R-L-C परिपथ पर विचार कीजिए। प्रेरकत्व के सिरो पर अधिकतम वोल्टता पतन है :

5 / 20

A condenser of capacity C is charged to a potential difference of V1. The plates of the condenser are then connected to an ideal inductor of inductance L. The current through the indictors when the potential difference across the condenser reduces to V2 is ?
C धारिता के एक संधारित्र को V1 विभवान्तर तक आवेशित किया गया है। फिर इसकी प्लेटों को एक L प्रेरकत्व के एक आदर्श प्रेरक से जोड़ दिया गया है। जब संधारित्र के सिरों के बीच विभवान्तर कम होकर V2 हो जाय तो प्रेरक से बहने वाली धारा होगी ?

6 / 20

The r.m.s. value of potential difference V shown in the figure is :-
आरेख (चित्र) में दिखाये गये विभवान्तर V का वर्ग माध्य मूल (आर.एम.एस.) मान है

7 / 20

A series R-C circuit is connected to an alternating voltage source. Consider two situations :-
एक श्रेणी R-C परिपथ किसी प्रत्यावर्ती वोल्टता के स्रोत से जुड़ा है। दो स्थितियों (a) तथा (b) पर विचार कीजिये
(a) When capacitor is air filled.
जब, संधारित्र वायु संपूरित (भरा) है।
(b) When capacitor is mica filled.
जब, संधारित्र माइका संपूरित है।
Current through resistor is i and voltage across capacitor is V then :-
इस परिपथ में प्रतिरोधक से प्रवाहित विद्युत धारा i है तथा संधारित्र के सिरों के बीच विभवान्तर V है,

8 / 20

A transistor-oscillator using a resonant circuit with an inductor L (of negligible resistance) and a capacitor C in series produce oscillations of frequency f. If L is doubled and C is changed to 4C, then frequency will be :-
एक ट्रांजिस्टर-दोलक में अनुनादी परिपथ का प्रयोग किया गया है जिसमें प्रेरक L (प्रतिरोध मान नगण्य) और संधारित्र C को श्रृंखलाबद्ध जोड़ा गया है। इसमें आवृति के दोलन पैदा होते हैं। यदि L कोदुगुना कर दिया जाए और C को 4C में बदल दिया जाए, तो प्राप्त आवृति का मान हो जाएगा:

9 / 20

On comparing the oscillation of damped oscillations of mechanical system with those in parallel RLC circuit connected to external source. The damping coefficient is found to be analogous to :-
किसी यांत्रिक निकाय के अवमन्दित दोलनों की तुलना ऐसे समान्तर RLC परिपथ से की जाती है जिसे बाह्य स्रोत से जोड़ा गया है तो अवमन्दन गुणांक किसके समतुल्य होगा

10 / 20

Comparing the L–C oscillations with the oscillations of a spring–block system (force constant of spring = k and mass of block = m), the physical quantity mk is similar to :–
L-C दोलनों की तुलना स्प्रिंग-ब्लॉक निकाय (स्प्रिंग का बल नियताक = k एवं ब्लॉक का द्रव्यमान =m) के दोलनों से करने पर, भौतिक राशि mk निम्न के समान होगी :

11 / 20

An electrical device operate at 12 A current and 120 V D.C. If it is connected with 250 V and 30 Hz AC. then power consumption :-
एक विद्युत युक्ति 12 A धारा एवं 120 VD.C. पर कार्य करती है। यदि इसे 250 V तथा 30 Hz AC से जोड़ा जाये तो व्ययित शक्ति होगी

12 / 20

A 60 µF capacitor is charged to 100 volts. This charged capacitor is connected across a 1.5 mH coil, so that LC oscillations occur. The maximum current in the coil is :-
60 μF के संधारित्र को 100 वोल्ट से आवेशित किया जाता है। इस आवेशित संधारित्र को 1.5mH की कुण्डली के सिरो पर इस प्रकार जोड़ा जाता है ताकि LC दोलन हो। कुण्डली में अधिकतम धारा होगी।

13 / 20

A fully charged capacitor C with intial charge q0 is connected to a coil of self inductance L at t = 0. The time at which the energy is stored equally between the electric and the magnetic fields is :-
प्रारम्भिक आवेश q0 वाला एक सम्पूर्ण आवेशित संधारित्र C को t = 0 पर एक स्व-प्रेरण L वाली कुण्डली से जोड़ा जाता है। वह समय, जिस पर विद्युत एवं चुम्बकीय क्षेत्रों में संभरित ऊर्जा एकसमान हैं, है :

14 / 20

Which of the following parameter in the series LCR circuit is analogous to driving force F(t) in mechanics :-
LCR श्रेणी परिपथ में निम्नलिखित में से कौनसी राशि, यांत्रिकी में कार्यकारी बल F(t) के समरूप है :

15 / 20

Power dissipated in an LCR series circuit connected to an a.c. source of emf e is :-
वि.वा.ब. (emf) e के a.c. स्त्रोत से युक्त शृंखला बद्धLCR परिपथ में हासित शक्ति होती है :

16 / 20

In the given circuit the reading of voltmeter V1 and V2 are 300 volts each. The reading of the voltmeter V3 and ammeter A are respectively :
दिये गये परिपथ में वोल्टमीटर V1 और V2 दोनों के पाठ्यांक 300 वोल्टमीटर V3 और A के पाठ्यांक क्रमश: होंगे :

17 / 20

Which of the following device in alternating circuit provides maximum power :-
प्रत्यावर्ती परिपथ में निम्न में से कौन से अवयव युक्त परिपथ अधिकतम शक्ति प्रदान करता है?

18 / 20

An ac voltage is applied to a resistance R and an inductor L in series. If R and the inductive reactance are both equal to 3Ω, the phase difference between the applied voltage and the current in the circuit is :-
एक ac वोल्टता को श्रेणीक्रम में जुड़े एक प्रतिरोधक R और एक प्रेरक L पर अनुप्रयुक्त किया गया है। यदि R और प्रेरकी प्रतिघात में प्रत्येक का मान 3Ω हो तो, परिपथ में अनुप्रयुक्त वोल्टता और विद्युत धारा के बीच कलान्तर होगा :

19 / 20

n an ac circuit an alternating voltage e = 200\sqrt{2} sin 100 t volts is connected to a capacitor of capacity 1µF. The r.m.s. value of the current in the circuit is:-
किसी ac परिपथ में एक प्रत्यावर्ती वोल्टता, e = 200 \sqrt{2} sin 100t वोल्ट, को 1µF धारिता के एक संध गरित्र से जोड़ा गया है। इस परिपथ में विद्युत धारा का वर्ग-माध्य-मूल मान होगा :

20 / 20

In an AC circuit, voltage V = V0sinωt and inductor L is connected across the circuit. Then the instantaneous power will be :-
किसी प्रत्यावर्ती परिपथ में वोल्टता V = Vosinωt एवं प्रेरकत्व L जुड़े हुए हैं। तात्क्षणिक शक्ति होगी:-

Your score is

The average score is 50%

0%




Welcome to the online physics test series for the NEET & JEE entrance exam. On this page you can find chapter wise physics mock tests for the NEET & JEE  exam. Practicing physics questions is very important as it helps in clear the concepts over a period of time. With these NEET & JEE physics questions, you can get a boost in your confidence when it comes to problem-solving in physics.

  • The test is of 20-minutes duration and it contains 20 Questions.
  • Practicing such tests would give you added confidence while attempting your exam.
  • Why wait to take the test and get an instant evaluation.

Leave a Comment

Your email address will not be published.

You cannot copy content