0%
1

All The Best

All The Best


Created on

Physics

CURRENT ELECTRICITY

CURRENT ELECTRICITY TEST - 10

1 / 15

n identical cells whether joined together in series or in parallel, give the same current, when connected to an external resistance 'R'. The internal resistance of each cell is :–
N सर्वसम सेल जब एक बाह्य प्रतिरोध R के साथ श्रेणीक्रम में अथवा समान्तर क्रम में जोड़े जाएं तो समान धारा देते हैं। प्रत्येक सेल का आन्तरिक प्रतिरोध ज्ञात कीजिए :

2 / 15

In the circuit shown, if a conducting wire is connected between points A and B, the current in this wire will :–
दर्शाये परिपथ में यदि एक चालक तार को बिन्दु A व B के मध्य जोड़ दिया जाए तो इस तार में धारा :

3 / 15

A battery of electro motive force E is connected in series with a resistance R and a voltmeter. An ammeter is connected in parallel with the battery. Then :-
E वि. वा. बल की बैटरी के श्रेणी क्रम में एक प्रतिरोध व वोल्टमीटर जुड़े हैं। एक अमीटर बैटरी के समान्तर क्रम में जुड़ा है

4 / 15

The equivalent resistance across AB is :–
AB के बीच तुल्य प्रतिरोध है

5 / 15

Figure shows a circuit with three ideal batteries in it. The circuit elements have the following values ΔVB1 =3. 0 V,  ΔV B2= 6.0 V R1 = 2.0 Ω, R2 = 4.0 Ω The currents i1, i2 and i3 as shown in the circuit have the values respectively :-

प्रदर्शित परिपथ में तीन आदर्श बैटरियों को दर्शाया गया है। ΔVB1 =3. 0 V,  ΔV B2= 6.0 V R1 = 2.0 Ω, R2 = 4.0 Ω परिपथ के अवयव निम्न मान देते है। प्रदेशित परिपथ में धारा i1,i2 व i3 के मान क्रमशः होंगे

6 / 15

The potential difference between the points A and B in the following circuit shown in the figure is :–
चित्र में दिखाए परिपथ में A व B विन्दुओं के बीच विभवान्तर ज्ञात कीजिये

7 / 15

The charge flowing through a resistance R varies with time t as Q = at – bt2, where a and b are positive constants. The total heat produced in R is:
किसी प्रतिरोध R से प्रवाहित आवेश का समय के साथ विचरण Q = at - bt2 के रूप में होता है, जहाँ a तथा b धनात्मक नियतांक हैं। R में उत्पन्न कुल ऊष्मा हैं :

8 / 15

When a voltmeter and an ammeter are connected one by one across the terminals of a cell respectively measures 5 V and 10 A. Now all meters are removed and only a resistance of 2 Ω is connected across the terminals of the cell. The current flowing through this resistance is :-
जब एक वोल्टमीटर को एक सेल के सिरों पर जोड़ा जाता है तो उसका पाठयांक 5 V आता है अमीटर को जोड़ने पर 10A पाठ्यांक आता है। अब यदि केवल 2Ω का प्रतिरोध सेल के सिरों पर जोड़ा जाए तो उसमें प्रवाहित धारा का मान होगा

9 / 15

For a cell, the terminal potential difference is 2.2 V when circuit is open which reduces to 1.8 V when it is connected to a resistance of R = 5 Ω; then internal resistance of the cell is :–
एक सेल के लिए जब परिपथ खुला है, टर्मिनल वोल्टता 2.2V है R = 5Ω के एक प्रतिरोध के साथ जोड़ा जाता है, तो 1.8 V तक घट जाती है, तो सेल का आन्तरिक प्रतिरोथ होगा :

10 / 15

Two batteries, one of emf 18 volts and internal resistance 2 Ω and the other of emf 12 volst and internal resistance 1 Ω, are connected as shown. The voltmeter V will record a reading of :–
18 वोल्ट, आंतरिक प्रतिरोध 2Ω और 1Ω वोल्ट, आंतरिक प्रतिरोध 12 की दो बैट्रियों को चित्र के अनुसार जोड़ा गया है। वोल्टमीटर V पर पाठ्यांक होगा

11 / 15

A battery of emf 12V having 10Ω internal resistance is connected with 100Ω resistor. If resistance of resistor increases by 1%, then total power loss remains constant. What will be % change in emf ?
12 वोल्ट विद्युत वाहक बल की बैटरी जिसका आन्तरिक प्रतिरोध 10Ω है, को 100Ω प्रतिरोध से जोड़ा गया है। जब प्रतिरोध को एक प्रतिशत से बढ़ाया जाता है तो कुल शक्ति हानि अपरिवर्तित रहती है। विद्युत वाहक बल में प्रतिशत परिवर्तन ज्ञात करो

12 / 15

A galvanometer of 50 ohms resistance has 25 divisions. A current of 4 × 10–4 amperes gives a deflection of one division. To convert this galvanometer into a voltmeter having a range of 25 volts, it should be connected with a resistance of :–
50 ओम प्रतिरोध के एक गैल्वैनोमीटर पर 25 भाग अंकित हैं। इसमें 4 x 10-4 ऐम्पीयर की धारा एक भाग का विचलन देती है। इस गैल्वैनोमीटर को 25 वोल्ट के प्रसार का वोल्टमीटर बनाने के लिए कितने और किस प्रकार के प्रतिरोध से जोड़ना होगा :

13 / 15

A group of N cells each of whose emf varies directly with the internal resistance as per the equation EN = 1.5 rN are connected as shown in the figure. The current in the circuit is :-
N सेलों के समूह का वि.वा.बल आन्तरिक प्रतिरोध के साथ समीकरण EN = 1.5rN के अनुसार बदलता है इनको चित्रानुसार को जोड़ा गया है, तो परिपथ में धारा I होगी :

14 / 15

Across a metallic conductor of non-uniform cross section a constant potential difference is applied. The quantity which remains constant along the conductor is :
असमान परिच्छेद (मोटाई) के धातु के किसी चालक के दो सिरों के बीच एक स्थिर विभवान्तर आरोपित किया जाता है। इस चालक के अनुदिश जो राशि अपरिवर्तित रहेगी वह है:

15 / 15

Eels are able to generate current with biological cells called electroplaques. The electroplaques in an eel are arranged in 100 rows,each row stretching horizontally along the body of the fish containing 5000 electroplaques. The arrangement is suggestively shown below. Each electroplaques has an emf of 0.15 V and internal resistance of 0.25 Ω. The water surrounding the eel completes a circuit between its head and its tail. If the water surrounding it has a resistance of 500 Ω, the current an eel can produce in water is about :-
विद्युत प्लेक्स के नाम से जाने वाले जैव कोशिकाओं द्वारा ईल मछलियां विद्युत धारा उत्पन्न करती हैं। ईल मछलियाँ में विद्युत प्लेक्स 100 कतारों में लगे होते हैं, प्रत्येक कतार मछली के शरीर में क्षैतिज रूप से फैलती है जिसमें 5000 विद्युत प्लेक्स होते हैं। इसे सांकेतिक रूप से चित्र में दर्शाया गया है। प्रत्येक इलेक्ट्रोप्लेक्स का विद्युत वाहक बल 0.15 V तथा आंतरिक प्रतिरोध 0.25Ω है। ईल के चारों ओर का पानी उसके सर तथा पूँछ के परिपथ को जोड़ देता है। यदि ईल के चारों ओर के पानी का प्रतिरोध 500Ω है, तब ईल पानी में लगभग निम्न धारा उत्पन्न कर सकती हैं :

Your score is

The average score is 33%

0%




Welcome to the online physics test series for the NEET & JEE entrance exam. On this page you can find chapter wise physics mock tests for the NEET & JEE  exam. Practicing physics questions is very important as it helps in clear the concepts over a period of time. With these NEET & JEE physics questions, you can get a boost in your confidence when it comes to problem-solving in physics.

  • The test is of 20-minutes duration and it contains 20 Questions.
  • Practicing such tests would give you added confidence while attempting your exam.
  • Why wait to take the test and get an instant evaluation.

Leave a Comment

Your email address will not be published.

You cannot copy content