Physics : Electrostatics Online Test

Access free online mock test series for Physics Electrostatics and important topics in NCERT book for Electrostatics Physics



0%
71

All The Best


Created on

Physics

Electrostatics Test – 1

Complete Electrostatics.

1 / 21

Three charges Q, +q and +q are placed at the vertices of a right-angled (isosceles) triangle . The net electrostatic energy of the configuration is zero, if Q is equal to :-
समकोण समद्विबाहु त्रिभुज के शीर्षो पर आवेश Q, +q व +q रखे गये हैं। यदि इस विन्यास की कुल वैद्युत स्थितिज ऊर्जा शून्य हो तो Q का मान होगा :

2 / 21

Two balls carrying charges +7μC and –5μC attract each other with a force F. If a charge –2μC is added to both, the force between them will be :-
दो गेंद जिन पर +7uC व – SuC आवेश है, एक दूसरे को F बल से आकर्षित करती है। यदि दोनों में -2uC आवेश जोड़ दें, तो इनके बीच बल हो जाएगा

3 / 21

10 μC charge is uniformly distributed over a thin ring of radius 1m. A particle of mass 0.9 g. and charge (–1μC) is placed at the centre of the ring. Find the time period of its SHM, if it is displaced along the axis of ring by a small amount :-
1m त्रिज्या की वलय पर 10 μC आवेश एकसमान रूप से वितरित है। 0.9 ग्राम द्रव्यमान व (-1μC ) के आवेश वाले कण को वलय के केन्द्र पर रखा जाता है। कण की सरल आवर्त गति का आवर्तकाल बताऐं, यदि इसे वलय के अक्ष के अनुदिश लघु विस्थापित करते है :

4 / 21

Magnitude of electric field at the centre of square ABCD (side a) is :-
दिए गएवर्ग ABCD (भुजा a) के केन्द्र पर वैद्युत क्षेत्र का परिमाण होगा :

5 / 21

Potential difference between the centre and the surface of a solid sphere of radius ‘R’ and uniform charge density ρ is :-
त्रिज्या ‘R’ व एकसमान घनत्व p के ठोस गोले के केन्द्र व पृष्ठ के मध्य विभवान्तर होगा

6 / 21

A particle of mass 2 g and charge 1μC is held at a distance of 1m from a fixed charge 1 mC. If the particle is released, then its speed, when it is at a distance of 10 m from the fixed charge
is :-
2 g द्रव्यमान व 1uC आवेश के कण को 1mC के स्थिर आवेश से 1 m दूरी पर रखा जाता है। यदि कण को मुक्त किया जाए, जब यह स्थिर आवेश से 10mकी दूरी पर पहुँचे तब इसकी चाल होगी

7 / 21

The electrostatic potential inside a charged spherical ball is given by Φ = ar2 + b, where r is the distance from the centre, a & b are constants. Then the charge density inside the ball is :-
आवेशित गेंद के किसी आन्तरिक बिन्दु के लिए वैद्युत विभव Φ = ar2 + b, से दिया गया है जहाँ गेंद के केन्द्र से दूरी तथा a व b नियतांक है। गेंद के भीतर आवेश घनत्व का मान होगा

8 / 21

A charge +q is at a distance L/2 above the centre of a horizontal square of side L. Then the flux linked with the surface is :-
भुजा L का क्षैतिज वर्ग के केन्द्र से L/2 ऊँचाई पर आवेश (+q) रखने पर, सतह से सम्बद्ध फ्लक्स का मान

9 / 21

An electron travels a distance of 0.1 m in an electric field of intensity 3200 V/m, enters perpendicularly to the field with a velocity 4 × 107 m/s. What is its deviation in its path ?
एक इलेक्ट्रॉन 4 × 107 मी/सै. वेग से 3200 V/m तीव्रता वाले वैद्युत क्षेत्र में लम्बवत् प्रवेश करता है तथा 0.1 मीटर दूरी तय करता है। वह अपने पथ से कितना विक्षेपित होगा ?

10 / 21

Two identical conducting spheres A and B have –10μC & 2μC charges respectively. If these spheres are connected by a wire then the charge flown through wire will be :-
समान आकार के दो चालकीय गोलों पर आवेश क्रमश: -10μC व 2μC है। यदि इन्हें पतले तार से जोड़ दे तो, तार में से कितना आवेश प्रवाहित होगा :

11 / 21

When a charge of 2 μC is carried from a point A to point B, the work done by electric field is 50 μJ. The potential difference between A and B is :-
जब 2 μC के आवेश को बिन्दु A से बिन्दु B तक ले जाया जाता है तो वैद्युत क्षेत्र द्वारा किया गया कार्य 50 μJ है। A और B के मध्य विभवान्तर होगा।

12 / 21

Three concentric metallic spherical shells of radii R, 2R, 3R are given charges Q1,Q2,Q3 respectively.If the surface charge densities on the outer surface of the shells are equal, then the ratio of the charges given to the shells Q1,Q2,Q3 is:-
त्रिज्या R, 2R, 3R वाले तीन संकेन्द्रीय धात्विक गोलों को क्रमश: आवेश Q1,Q2,Q दिये जाते हैं। यदि गोलों की बाहृय सतह पर आवेश घनत्व समान हो, तो Q1,Q2,Q3, के अनुपात होंगे :

13 / 21

Positive and negative point charges of equal magnitude are kept at a (0,0, a/2) and  (0,0, -a/2) respectively. The work done by electric field when another positive charge is moved from (–a,0,0) to (0,a,0) is :-
समान परिमाण के बिन्दु धनावेश व बिन्दु ऋणावेशों को क्रमशः (0,0, a/2) व  (0,0, -a/2) पर रखे गये हैं। वैधुत क्षेत्र के द्वारा किया गया कार्य बताऐ जब एक अन्य धनावेश को (−a,0,0) से (0,a,0) तक ले जाया जाता है :

14 / 21

Four identical particles each of charge(q) & mass (m) are in equilibrium due to only electrostatic & gravitational force as shown, the ratio (q/m) is :-
आवेश (q) व द्रव्यमान (m) के चार सर्वसम कण केवल विद्युत तथा गुरूत्वीय बल के कारण चित्रानुसार संतुलन में हो तो (q/m) का मान होगा

15 / 21

Two charges of unit magnitude placed at A and B produce electrostatic potential along the line AB as shown. What are the values of the charges at A and B ?
एकाँक परिमाण के दो आवेश A व B को सरल रेखा में रखने पर उनके द्वारा उत्पन्न विभव को चित्र में दर्शाया गया है। आवेश A व B के मान होंगे।

16 / 21

Two point charges placed at a distance r in air exert a force F on each other. The distance at which they experience force 4F when placed in a medium of dielectric constant K = 16 is :-

वायु में r दूरी पर रखे दो बिन्दु आवेश एक दूसरे पर F बल आरोपित करते है। परावैधुतांक (K = 16) के माध्यम में उन्हे किस दूरी पर रखा जाए जिससे कि ये एक दूसरे पर 4F बल आरोपित करें :

17 / 21

An electric dipole placed at an angle of 30° with an electric field of intensity 2 ×105 N/C experiences a torque equal to 4 N-m. Calculate the charge on the dipole, if the dipole length is 2 cm :-
2 ×105 N/C  की तीव्रता के वैद्युत क्षेत्र से 30° के कोण पर रखा वैद्युत द्विध्रुव यदि 4 N-m का बलाघूर्ण अनुभव करें तो उस पर आवेश का मान बताए, यदि द्विध्रुव की लम्बाई 2 cm है

18 / 21

The rupture of air medium occurs at E = 3 × 106 V/m. The maximum charge that can be given to a sphere of diameter 5m will be :-
E = 3 × 106 V/m पर वायु का रोधन टुट जाता है। अधिकतम आवेश जो 5 मीटर व्यास वाले गोले को दिया जा सकता है होगा

19 / 21

The electric flux through a closed surface area S enclosing charge Q is . If the surface area is doubled, then the flux is :-
S पृष्ठीय क्षेत्रफल वाले बन्द पृष्ठ में आवेश Q रखने पर उस से फ्लक्स ) निर्गत होता है। यदि पृष्ठीय क्षेत्रफल को दो गुना कर दे तो निर्गत फ्लक्स होगा

20 / 21

A spherical droplet having a potential of 2.5 volts is obtained as a result of merging 125 identical conducting droplets. The potential of the constituent droplet is :-
125 एक समान चालकीय बूंदो को मिलाकर 2.5 वोल्ट वाली A B एक बड़ी बूँद का निर्माण किया जाता है, तो उपयोग में ली गई छोटी बूँदों का विभव होगा

21 / 21

In a certain region of space the potential is given by V = k [2x2 –y2 +z2 ]. The magnitude of electric field at point P(1,1,1) will be :-
किसी दिए गए क्षेत्र में विभव V = k [2x2 –y2 +z2 ] से दिया जाऐं तो बिन्दु P(1,1,1) पर वैधुत क्षेत्र का परिमाण

Your score is

The average score is 24%

0%





0%
12

All The Best


Created on

Physics

Electrostatics Test – 2

Complete Electrostatics.

1 / 21

Ten charges (5 of them +q each and five are –q each) are placed randomly on the circumference of a circle. The radius of the circle is R. The electric potential at the centre of this circle due to these charges will be :-
दस आवेश (जिनमें 5 +q तथा 5 – q हैं) को अनियमित रूप से एक वृत्त की परिधि पर रखा गया है। वृत्त की त्रिज्या R है। इन आवेशों के कारण वृत्त के केन्द्र पर विद्युत विभव का मान

होगा

2 / 21

A point charge 50 μC is located in the XY plane at the point of position vector   . What is the electric field at the point of position
vector :-
50 μC का एक बिन्दु आवेश XY तल में स्थिति सदिश पर स्थित है। स्थिति सदिश पर स्थित किसी बिन्दु पर विद्युत क्षेत्र का मान बताइए :

3 / 21

Calculate the flux through the cuboid shown in the figure for
चित्र में दर्शाए घनाभ से गुजनरे वाले फ्लक्स का मान ज्ञात कीजिए

4 / 21

There are two conducting spheres of radii r and 2r and are charged with charges q and 2q respectively. They are independently connected with a very large sphere at potential  V. Finally, they are connected together. Charge on sphere of radius r and 2r are now q1 and q2 ; then :-
दो चालक गोलों की त्रिज्या तथा 2r है तथा इन पर क्रमशः q तथा 2q आवेश है। इन्हें अलग-अलग V विभव के एक विशाल गोले से जोड़ा जाता है। अंत में, इन्हें आपस में जोड़ा जाता है। r तथा 2r त्रिज्या के गोलों पर नए आवेश q1 तथा q है

5 / 21

Two identical charges experience a force F. If half of the charge is transferred from one to another and separation is reduced to half. The new force between them is :-
दो एकसमान आवेश परस्पर F बल लगाते है। यदि एक आवेश का आधा भाग दूसरे आवेश में स्थानान्तरित किया जाए तथा इनके मध्य दूरी आधी कर दी जाए तो इनके मध्य नया बल होगा

6 / 21

In the given figure, give the sign of potential energy difference of a small negative charge between points B and A :

दिए गए चित्र में B तथा A बिंदुओं के मध्य एक छोटे ऋणात्मक आवेश की स्थितिज ऊर्जा में परिवर्तन का मान का चिन्ह होगा :

7 / 21

Two conducting plates are kept parallel to each other; and are given equal and opposite charges of magnitude Q. What is the magnitude of force experienced by one plate due to the other ?
दो समान्तर चालक प्लेटों को बराबर परंतु विपरीत प्रकृति के आवेश Q प्रदान किया गए हैं। एक प्लेट पर दूसरी प्लेट के कारण लगा बल होगा ?

8 / 21

A particle of mass m and charge q is thrown from a point in space where uniform gravitational field and electric field are present the particle :-
(A)may follow a straight line
(B) may follow a circular path
(C) may follow a parabolic path

m द्रव्यमान तथा q आवेश का एक कण; एकसमान गुरूत्वीय तथा विद्युत क्षेत्र वाले स्थान पर प्रक्षेपित किया गया है। कण :
(A) सरल रेखा में गति कर सकता है।
(B) वृत्तीय पथ में गति कर सकता है
(C) परवलीय पथ में गति कर सकता है

9 / 21

Electric field at centre of semicircular ring shown in figure is :-
चित्र में प्रदर्शित अर्धवृत्ताकार वलय के केन्द्र पर विद्युत क्षेत्र का मान है :

10 / 21

Three charges 2q, –q and –q are located at the vertices of an equilateral triangle. At the centre of the triangle :-
तीन आवेश 2q, –q तथा-q एक समबाहु त्रिभुज के तीन कोनों पर रखे हैं। त्रिभुज के केन्द्र पर :

11 / 21

A thin conductor rod is placed between two unlike point charges +q1 and –q2. Then :-
एक पतली चालक छड़ दो असमान बिंदु आवेशों +q1, तथा –q2 के मध्य रखी है। तो

12 / 21

A positive charge Q is brought near an isolated metal cube :-
एक धनावेश Q को एक धन के पास लाया जाता है :

13 / 21

A proton and an electron are placed in a uniform electric field :-

एक प्रोटोन तथा एक इलेक्ट्रॉन एक समान विद्युत क्षेत्र में

स्थित हैं। :

14 / 21

There is an electric field E in x-direction. If the work done on moving a charge of 0.2C through a distance of 2m along a line making 60° with  x-axis is 4J. What is the value of E :-
x-दिशा में E विद्युत क्षेत्र उपस्थित है। यदि 0.2C के आवेश को x अक्ष से 60° पर 2m विस्थापित करने में 4J कार्य किया जाता है तो E का मान क्या होगा

15 / 21

Two isolated charged conducting spheres of radii R1 and R2 produce the same electric field near their surfaces. The ratio of electric potential on their surfaces is :
दो दूर रखे चालक गोलों की त्रिज्या R1 तथा R2 है तथा दोनों  का पृष्ठ पर विद्युत क्षेत्र का मान बराबर है। इनके पृष्ठ पर विभवों का अनुपात होगा :

16 / 21

A point charge q is placed at a distance r from a large non-conducting sheet having surface charge density ρ on both surfaces, it experiences a force F. If the distance from sheet is made twice, the force on q now becomes :-
एक बिन्दु आवेश q किसी विशाल अचालक पट्टिका से दूरी पर स्थित है। पट्टिका के दोनों पृष्ठों का पृष्ठीय आवेश घनत्व ρ है। आवेश Fबल अनुभव करता है। यदि आवेश की पट्टिका से दूरी दोगुनी कर दी जाए तो q पर नया बल होगा :

17 / 21

.Two identically charged spheres are suspended by strings of equal length. The strings make an angle of 45° with each other. When suspended in a liquid of density 0.8 gm cm–3, the angle remains same what is the dielectric constant of liquid. (Density of sphere = 1.6 gm cm–3) :-
दो एकसमान आवेशित गोलों को समान लंबाई की डोरियों द्वारा लटकाया गया है। डोरियाँ एक दूसरे से 45° के कोण पर हैं। यदि इन्हें 0.8 gm cm–3 घनत्व के एक तरल में लटकाया जाए तो इनके मध्य कोण में कोई परिवर्तन नहीं मिलता है। तरल का परावैद्युतांक कितना है? (गोले का घनत्व = 1.6 1.6 gm cm–3) :

18 / 21

12J of work has to be done against an existing electric field to take a charge of 0.01C from A to B. Find the potential difference VB – VA :
एक 0.01C के आवेश को उपस्थित विद्युत क्षेत्र के विरूद्ध A से B बिन्दु पर ले जाने में 12J का कार्य किया जाता है। तो VB – VA का मान होगा

19 / 21

n small drops of same size are charged to V volts each. If they coalesce to form a single drop, then its potential will be :-
n-छोटी बूंदो को V विभव तक प्रत्येक को आवेशित किया गया है। यदि इन्हें जोड़कर एक बड़ी बूंद बनाई जाए तो उसका विभव होगा

20 / 21

There are two concentric spherical conducting shells of radii r and 3r. The outer shell carries a charge q and inner shell is uncharged. Inner shell
is now connected with earth; find the amount of charge flow from inner shell to the earth :-
दो सकेन्द्रीय चालक गोलीय कोषों की त्रिज्या r तथा 3r है। बाहरी गोले पर q आवेश स्थित है तथा भीतरी गोला प्रारम्भ में उदासीन है। यदि भीतरी कोष को भूसम्पर्कित किया जाए तो आन्तरिक कोष से पृथ्वी में कितना आवेश प्रवाहित होगा :

21 / 21

A rod AB of mass m and length L is positively charged with linear charge density λ Cm–1. It is pivoted at end A and is having freely. If a horizontal electric field E is switched ON in the region, find the angular acceleration of the rod with which it starts :-
m द्रव्यमान तथा L लंबाई की एक छड़ को λ घनत्व से धनावेशित किया गया है। इसका A अंत निश्चित स्थान पर तथा B अंत मुक्त है। यदि एक क्षैतिज विद्युत क्षेत्र E प्रदान किया जाए, तो छड़ का प्रारंभिक कोणीय त्वरण होगा

Your score is

The average score is 24%

0%






0%
12

All The Best


Created on

Physics

Electrostatics Test – 3

Complete Electrostatics.

1 / 18

Mark the correct option :
सही कथन चुनिए

2 / 18

A proton, a deuteron and an alpha particle are accelerated through potentials of V, 2 V and 4V respectively, then the ratio of their velocities is:-
एक प्रोटोन, एक ड्यूट्रोन व एक अल्फा कण को क्रमश: V, 2 V और 4V विभव से त्वरित किया गया है. तो तीनों के वेगों का अनुपात है :

3 / 18

Two large conducting sheets are kept parallel to each other as shown. In equilibrium, the charge density on facing surfaces is σ1 and σ2  (σ1 > 0).
What is not the value of electric field at A.
दो बड़ी चालक पट्टिकाओं को चित्र में दर्शाये अनुसार एक-दूसरे के समान्तर रखा गया है। साम्यवस्था में, इनके सम्मुख फलकों पर आवेश घनत्व σ1 व σ21 > 0) है। A पर विद्युत क्षेत्र का मान नहीं होगा:

4 / 18

A point charge q is kept at A. The potential at point P at distance r from it is V and twice of this charge is distributed uniformly on the surface of a hollow sphere of radius 4r with centre at point A, the total otential at point P is :-
एक बिंदु आवेश q, A पर रखा हुआ है। इससे r दूरी पर स्थित बिंदु P पर विभव V है और इस आवेश का दुगना आवेश 4r त्रिज्या वाले गोलीय कोश पर एकसमान रूप से वितरित है, जिसका केन्द्र A पर ही है, बिन्दु P पर कुल विभव होगा

5 / 18

In moving from A to B along an electric field line, the work done by the electric field on an electric is 6.4 × 10–19 J. If Φ1 and Φ2 are equipotential surface, then the potential difference VC – VA is:
एक इलेक्ट्रॉन को विद्युत बल रेखा के अनुदिश A तक गति करने में विद्युत क्षेत्र द्वारा किया गया 6.4 × 10–19 J है। यदि Φ1 तथा Φ2 समविभव सतहें है, विभवान्तरVC – VA है:

6 / 18

Figure shows three charged circular arcs, each of radius R, their centres are at same point and total charge as indicated. The net electric potential at the centre of curvature :-
चित्र में तीन आवेशित चाप दर्शाये गये हैं। प्रत्येक की त्रिज्या R है, इनके केन्द्र एक ही बिन्दु पर हैं तथा इन पर आवेश दर्शाये अनुसार हैं। वक्रता केन्द्र पर कुल वैद्युत विभव है

7 / 18

Four arrangements are given of three fixed electric charges. In each arrangement, a point labeled P is also identified — test charge, +q, is placed at
point P. All of the charges are of the same magnitude Q, but they can be either positive or negative as indicated. The charges and point P all lie on a straight line. The distances between two adjacent charges or between a charge and point P, are all the same. Correct order of choices in a decreasing order of magnitude of force on change placed at P is :
तीन स्थिर विद्युत आवेशों की चार व्यवस्थाओं को चित्र में दर्शाया गया है। प्रत्येक व्यवस्था में परीक्षण आवेश को +q बिन्दु P पर रखा गया है। सभी आवेशों के परिमाण Q समान हैं परन्तु इन्हें धनात्मक अथवा ऋणात्मक चिन्ह द्वारा इंगित किया गया है। आवेश तथा बिन्दु P एक सरल रेखा पर स्थित हैं। आवेशों या आवेश व बिन्दु P के मध्य दूरीयाँ समान है। P पर रखे हुए बिन्दु आवेश पर बल के परिमाण का घटते हुए क्रम में सही विकल्प है

8 / 18

Two concentric spheres of radii R and 2R are charged. The inner sphere has a charge of 1µC and the outer sphere has a charge of 2µC of the same sign. The potential is 9000 V at a distance 3R from the common centre. The value of R is :-
R व 2R त्रिज्या वाले दो सकेन्द्रीय गोले आवेशित किये गये है। आन्तरिक गोले पर आवेश 1µC तथा बाह्य गोले पर समान चिन्ह वाला 2µC आवेश है। उभयनिष्ठ केन्द्र से 3R दूरी पर विभव 9000 V है। R का मान होगा :

9 / 18

Four electric dipoles each of charges ± e are placed inside a sphere. The total electric flux of coming out of the sphere is :-

± e आवेशों वाले चार वैद्युत द्विध्रुवों गोले के अंदर रखा गया है। गोले से कुल निर्गमित फ्लक्स है:

10 / 18

Three concentric metallic spherical shells of radii R, 2R, 3R, are given charges Q1, Q2, Q3, respectively. It is found that the surface charge densities on the outer surfaces of the shells are equal. Then, the ratio of the charges given to the shells, Q1 : Q2 : Q3, is
R, 2R, 3R त्रिज्या वाले तीन संकेन्द्रीय गोलीय कोशों को क्रमश: Q1, Q2, Q3 आवेश दिये गये हैं। यह पाया गया है कि गोलों की बाहरी सतहों पर पृष्ठ आवेश घनत्व समान है। गोलों को दिये गये आवेशों का अनुपात Q1 : Q2 : Q है:

11 / 18

Five point charges (+q each) are placed at the five vertices of a regular hexagon of side 2a. What is the magnitude of the net electric field at the centre of the hexagon :
पाँच बिन्दु आवेश (प्रत्येक +q), 2a भुजा वाले समषट्भुज के पाँच कोनों पर रखे हुए हैं। षट्भुज के केन्द्र पर कुल विद्युत क्षेत्र का परिमाण कितना होगा

12 / 18

A solid sphere of radius R has charge ‘q’ uniformly distributed over its volume. The distance from its surface at which the electrostatic potential is
qual to half of the potential at the centre is :-
R त्रिज्या वाले ठोस गोले के सम्पूर्ण आयतन में 9 प आवेश एकसमान रूप से वितरित है। इसकी सतह से वह दूरी जहाँ पर स्थिरवैद्युत विभव, इसके केन्द्र पर विभव का आधा होगा,

13 / 18

Charges 2q and –q are placed at (a, 0) and (–a, 0) as shown in the figure. The coordinates of the point at which electric field intensity is zero will be (x, 0) then :-
आवेश 2q व –q, क्रमश: (a, 0) व (-a, 0) पर चित्र में दर्शाये अनुसार रखे हुये हैं। जहाँ विद्युत क्षेत्र की तीव्रता शून्य है उस बिन्दु के निर्देशांक (x, 0) हैं, तो :

14 / 18

1000 drops of same size are charged to a potential of 1 V each. If they coalesce to form a single drop, its potential would be :-
समान आकार वाली 1000 बूंदों में प्रत्येक पर 1V विभव तक आवेशित किया गया है। यदि वे मिलकर एक बूंद बना लेती हैं, तो इसका विभव होगा :

15 / 18

Three identical charges are placed at corners of an equilateral triangle of side L . If force between any two charges is F, the work required to double
the separation between charges of triangle is :-
एक जैसे तीन आवेश, L भुजा वाले समबाहु त्रिभुज के कोनों पर रखे हुए हैं। यदि किन्ही दो आवेशों के बीच बल F है, अन्तराल दुगना करने के लिये आवश्यक  तो आवेशों के बीच कार्य होगा :

16 / 18

Positive and negative charges of equal magnitude lie along the symmetry axis of a cylinder. The distance from the positive charge to the left endcap of the cylinder is the same as the distance from the negative charge to the right end cap.The sign of the flux through the right end-cap of
the cylinder is :
cylinder is :
समान परिमाण वाले धनात्मक व ऋणात्मक आवेश बेलन की सममित अक्ष के अनुदिश स्थित है। बार्यों ओर वाले धन आवेश की बेलन के बायें अन्त्य फलक से दूरी, ऋण आवेश की दायें अन्त्य फलक से दूरी के बराबर है। बेलन के दायें अन्त्य फलक से गुजरने वाले फ्लक्स का चिन्ह होगा

17 / 18

A charge (–q, m) is projected with initial velocity V0 in the direction of unidirectional field E0 x as shown in figure. Find distance covered by charge
before it comes to rest.
एक ‘–q’ आवेश व m द्रव्यमान के कण को V0 प्रारम्भिक वेग से चित्रानुसार E0 x  एकदिशीय विद्युत क्षेत्र में प्रक्षेपित किया ‘0’ गया है। आवेश द्वारा विरामावस्था में आने से पूर्व तय दूरी होगी:

18 / 18

An electrical charge 2 × 10–8 C is placed at the point (1, 2, 4)m. Then at the point (4, 2, 0)m,
एक विद्युत आवेश 2 × 10–8 C बिन्दु ( 1, 2, 4)m पर रखा है तो बिंदु (4, 2, 0)m पर :

Your score is

The average score is 25%

0%

1 thought on “Physics : Electrostatics Online Test”

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content