JET Biology Practice Questions Part-5

प्रष्न शीत उपचार द्वारा पुष्पन प्रेरित करना कहलाता है:-

उत्तर बसन्तीकरणं

प्रष्न बसन्तीकरण के लिए उत्तरदायी हार्मोन है:-
उत्तर वर्नेलिन।

प्रष्न दीप्तिकालिता को प्रेरित करने वाला ;पदार्थद्ध प्रकाशग्राही वर्णक है:-
उत्तर फाइटोक्रोम।

प्रष्न दिवस उदासीन पादप है:-
उत्तर टमाटर, कपास।

प्रष्न जीर्णता केा प्रेरित करने वाा पादप हार्मोन है:-
उत्तर ABA (एवसिसिक अम्ल)

प्रष्न स्ट्रेस हार्मोन किसे कहते है:-
उत्तर ABA

प्रष्न कृत्रिम रूप से फलों को पकाने के एिल किस पदार्थ का उपयोग होात है:-
उत्तर इथेफोन (इथीलीन)

प्रष्न उत्तक संवर्धिन तकनीक में काम आने वाले पादप हार्मोन है:-
उत्तर आॅक्सीन + साइटोकाइनिन।

प्रष्न साइटोकाइनिन नाम दिया:-
उत्तर लीथम ने।

प्रष्न चावल में बेकने रोग (मूख नवोद्भिद रेाग) का कारण:-
उत्तर जिबरेला फ्लीकोराई।

प्रष्न खरपतवार उन्मूलन हेतु प्रयुक्त पादप हार्मोन है:-
उत्तर 2, 4-D

प्रष्न ट्रेडेन्सिकेशिया के पुकेसरी रोमों में किस प्रकार की भति पायी जाती है:-
उत्तर जीवद्रव्यी भ्रमण (साइक्लोसिस)

प्रष्न फर्न की बीजाणुधानी का फटना सि प्रकार की गति है:-
उत्तर यौगिक गति (आर्द्रता प्रेरित गति)

प्रष्न टेरिडोफाइटा पादपों मे ंनर युग्मक स्त्रीधानी की ग्रीवा की ओर आकर्षित होते है क्यो:-
उत्तर रसायनानुचचलन के कारण।

प्रष्न विविपैरस अंकुरण पाया जाता है:-
उत्तर राइजोफोरा में (मेग्रोव पादप में)

प्रष्न कैल्विन चक्र (C3 चक्र) का प्रथम स्थायी यौगिक है:-
उत्तर PGA (फास्फोग्लिसरिक अम्ल)

प्रष्न C4 चक्र (हेच व स्लेक चक्र) का प्रथम स्थायी यौगिक है:-
उत्तर OAA (आॅक्सेली एसिटिक अम्ल)

प्रष्न जल के प्रकाशिक अपघटन ;फोटोलाइसिसद्ध के लिए आवश्यक तत्व है:-
उत्तर Cl-, mn+2

प्रष्न सर्वाधिक प्रकाश संश्लेषण किस प्रकाश में होता है:-
उत्तर लाल प्रकाश में।

प्रष्न किन वैज्ञानिकों ने 0’8 समस्थानिन का उपयोग कर यह सिद्ध किया कि प्रकाश संश्लेषण में विमुक्त O2 का स्त्रोत जल है:-
उत्तर रूबेन तथा काॅमन।

प्रष्न सीमाकारी कारकों का निमय दिया:-
उत्तर ब्लैकमेन।

प्रष्न सर्वप्रथम किस एन्जाइम की खोज की गई:-
उत्तर जाइमेज (बुकनर ने यीस्ट में)

प्रष्न सर्वप्रथम किस एन्जाइम का क्रिस्टलीकरण किया गया:-
उत्तर यूरीएज (सुमनर ने)

प्रष्न एन्जाइम शब्द दिया:-
उत्तर कुहने ने।

प्रष्न होलोएन्जाइम बना होता हैः-
उत्तर एपोएन्जाइम + काफैक्टर।

प्रष्न एन्जाइमी क्रिया के लिए अनुकूलतम pH है:-
उत्तर 20-35°C

प्रष्न एन्जाइमी क्रिया हेतु अनुकूलतम तापमान है:-
उत्तर 20.35°C

प्रष्न एन्जाइमी क्रिया का ताला-कुंजी सिद्धान्त प्रस्तुत किया:-
उत्तर फिशर ने 1898 में।

प्रष्न प्रेरित आसंजन सिद्धान्त प्रस्तुत किया:-
उत्तर कोसलैण्ड (1966)

प्रष्न IAA में पाया जाने वाला तत्व है:-
उत्तर Zn

प्रष्न चुकन्दर का हर्ट-रोट रेाग किस तत्व की कमी से होता है:-
उत्तर बोराॅन।

प्रष्न लैग्यूम पादपों में नाइट्रोजन स्थिरीकरण के लिए आवश्यक तत्व है:-
उत्तर M0 (मोब्डिेनम)

प्रष्न अनिवार्य पोषक तत्वों की संख्या है:-
उत्तर 17

प्रष्न सक्रिय K+ आयन स्थानान्तरण सिद्धान्त प्रस्तुत किया:-
उत्तर लेनिट ने

प्रष्न रसारोहण की क्रिया का सर्वमान्य सिद्धान्त है:-
उत्तर वाष्पोत्सर्जन-यंसजन तनाव सिद्धान्त।

प्रष्न सक्रिय जल अवशोषण होता है:-
उत्तर 4%

प्रष्न जलविभव का सूत्र है:-
उत्तर

प्रष्न बारिश के दिनों में लकड़ी के दरवाजों के फूलने का कारण है:-
उत्तर अन्तः चूषण ;अन्तः शोषणद्ध

प्रष्न प्रोटोजोआ नाम दिया:-
उत्तर गोल्डफस ने

प्रष्न अमीबा की खोज:-
उत्तर रसेल वाॅन, रोसेल हाॅफ

प्रष्न अमीबा शब्द का उद्भव:-
उत्तर ग्रीक भाषा से

प्रष्न अमीबा का नामकरण:-
उत्तर विनसेट ने किया।

प्रष्न अमीबा आॅफ द मैन पुस्तक लिखी:-
उत्तर डोबेल ने

प्रष्न अमीबा की समुद्री जातियाँ:-
उत्तर अमीबा स्टीयटा, अमीबा पेरूरोसा।

प्रष्न अमीबा खाता है:-
उत्तर शैवाल व जीवाणु।

प्रष्न अमीबा के संवर्धन की प्रक्रिया को कहते है:-
उत्तर Hay Inbusion

प्रष्न अमीबा का सामान्य आकार:-
उत्तर 0.2 – 0.6 mm

प्रष्न सबसे बड़ा अमीबा:-
उत्तर अमीबा पीलोमिक्सा

प्रष्न सबसे छोटा अमीबा:-
उत्तर अमीबा पेरूकोसा।

प्रष्न अमीबा के अमरत्व का वर्णन किसने किया:-
उत्तर Heart Man ने

प्रष्न हाथलीनन टोपी पायी जाती है:-
उत्तर कूटपाद के अग्र भाग पर।

प्रष्न अमीबा के लुप्त होते कूटपादों को कहते है:-
उत्तर यूरोइड़।

प्रष्न अमीबा के कूटपादों को कहते है:-
उत्तर लोबोपोड़िया

प्रष्न अमीबा में कोशिका भित्ति होती है:-
उत्तर अनुपस्थित

प्रष्न अमीबा की प्लाज्मालेमा बनी होती है:-
उत्तर लिपिड़ + प्रोटीन + लिपिड़

प्रष्न अमीबा में आधार तल से चिपके होते है:-
उत्तर सुक्ष्माकुर

प्रष्न सूक्ष्माकुंर बने होते है:-
उत्तर म्यूकोप्रोटीन से

प्रष्न अमीबा में विसरण-परासरण होता है:-
उत्तर प्लाज्मालेमा द्वारा

प्रष्न अमीबा में केन्द्रक पाये जाते हे:-
उत्तर एक

प्रष्न अमीबा के केन्द्रक में केन्द्रिकाओं की संख्या:-
उत्तर 3 से अनन्त।

प्रष्न तरूण अमीबा में केन्द्रक किस प्रकार का पाया जाता है:-
उत्तर उभयावतल प्रकार का

प्रष्न वयस्क अमीबा में केन्द्रक किस प्रकार का पाया जाता है:-
उत्तर उभयोतल प्रकार का

प्रष्न केन्द्रक कला के नीचे जाल के समान संरचनाये पायी जाती है, कहलाती है:-
उत्तर डंेेपसम प्रकार का

प्रष्न अमीबा में केन्द्रक होता है:-
उत्तर Type of Massile

प्रष्न केन्द्रक जिसमें क्रोमेरिन के कण केन्द्रक द्रव्य की तुलना में ज्यादा हो, तो केन्द्रक कहलाते हैः-
उत्तर मधु छल्लेनुमा जालक (केन्द्रक की आकृति बनाये रखना)

प्रष्न अमीबा में केन्द्रक होता है:-
उत्तर Type of Masile

प्रष्न केन्द्रक जिससे क्रोमेरिन के ककण केन्द्रक द्रव्य की तुलना में ज्याद हो, तो केन्द्रक कहलाते है
उत्तर डंेेपसम प्रकार का।

प्रष्न पादप कोशिका का औसत न्यास:-
उत्तर 15 से 100 मारकोन (M)

प्रष्न जीवाणु कोशिका का औसत न्यास:-
उत्तर 1 से 10 M

प्रष्न सबसे बड़ी कोशिका:-
उत्तर शतुरमुर्ग का अण्डा (आॅस्ट्रिच) 15 सेमी

प्रष्न सबसे छोटी कोशिका:-
उत्तर माइक्रोप्लाजा (0.1 M/M lo)

प्रष्न शरीर की सबसे लम्बी काशिका:-
उत्तर तंत्रिका कोशिका (1 मी. लम्बा)

प्रष्न सबसे लम्बी पादप कोशिका:-
उत्तर पास, सन, तरबू के गुद्दे व रेशें।

प्रष्न एक कोशीय प्राणी:-
उत्तर अमीबा, मुगलीना, पैरामिशियम

प्रष्न सैकण्डों कोशिकाओं का शरीर:-
उत्तर राॅटीफर्स

प्रष्न हजारेां कोशिकाओं का शरी:-
उत्तर हाइड्रा

प्रष्न करोड़ों कोशिकाओं का शरीर:-
उत्तर उच्च श्रेणी के जीवों का शरीर

प्रष्न मनुष्य के शरीर में कितनी कोशिकायें पायी जाती है:-
उत्तर एक जार खरब

प्रष्न कोशिका झिल्ली किसमें पायी जाती है:-
उत्तर पादप व जन्तु कोशिका में

प्रष्न कोशिका झिल्ली होती है:-
उत्तर चयनात्मक पारगम्य (स्तरीय)

प्रष्न कोशिका झिल्ली बनी होती है:-
उत्तर प्रोटीन की

प्रष्न कोशिका की मूल संरचना:-
उत्तर प्रोटीन व लिपिड़।

error: Content is protected !!