0%
29

All The Best

All The Best


Created on

Physics

KINEMATICS TEST - 2

1 / 20

A body is moving according to the equation x = at + bt2 - ct3. Then its instantaneous speed is given by :-
एक वस्तु समीकरण x = at + bt2 - ct3  के अनुसार गति कर रही है तो इसकी तात्क्षणिक चाल होगी...

2 / 20

If for a particle position x α t2 then :-
यदि किसी कण की स्थिति x α t2 हो तो :

3 / 20

If a body starts from rest and travels 120m in the 8th second, then acceleration is :
यदि एक वस्तु विरामावस्था से गति करना प्रारम्भ करती है और 8वें सेकण्ड में 120m की दूरी तय करती है तो त्वरण का मान है :

4 / 20

The position x of a particle varies with time (t) as x = at2 - bt3. The acceleration at time t of the particle will be equal to zero, where t is equal to :
एक कण की स्थिति x समय के सापेक्ष सम्बन्ध x = at 2 - bt3 के अनुसार परिवर्तित होती है किसी समय पर यदि त्वरण शून्य है तोt का मान होगा :

5 / 20

The motion of a particle is described by the equation x = a + bt2 where a = 15 cm and b = 3 cm/sec2. Its instantaneous velocity at time 3 sec will be :-
किसी कण की गति का समीकरण x = a + bt2 है। a = 15cm व b = 3 cm/s2 है। समय 3s पर होगा

6 / 20

A car moving with a speed of 40 km/h can be stopped by applying brakes after at least 2m. If the same car is moving with a speed of 80 km/h., what is the minimum stopping distance ?
40 km/h चाल से गतिशील कार को ब्रेक लगाकर न्यूनतम 2m में रोक लिया जाता है। यदि वही कार 80km/h चाल से गति करती है तो वह न्यूनतम कितनी दूरी में रोक ली जायेगी :

7 / 20

A particle located at x = 0 at time t = 0, starts moving along the positive x-direction with a velocity 'v' which varies as v = \alpha \sqrt{X} , then velocity of particle varies with time as : (α is a constant)
t = 0 समय पर x = 0 स्थिति पर स्थित एक कण धनात्मक x-दिशा में वेग v के साथ गति करता है, जो v = \alpha \sqrt{X} के अनुसार परिवर्तित होता है, तो कण के वेग में समय के साथ निम्न प्रकार से परिवर्तन होगा (α एक नियतांक है)

8 / 20

If a train travelling at 72 km/h is to be brought to rest in a distance of 200 m, then its retardation should be :
यदि 72 km/h से गति करती हुई एक रेलगाड़ी 200 m दूरी में विरामावस्था में लायी जाती है तो इसका मन्दन होगा :

9 / 20

Starting from rest ,the acceleration of a particle is a = 2(t -1). The velocity of the particle at t= 5 s is :-
स्थिरावस्था से गति प्रारम्भ कर रहे कण का त्वरण a 2(t-1) है। 1= 5 सेकण्ड पर कण का वेग होगा :

10 / 20

The relation t = √x + 3 describes the position of a particle where x is in meters and t is in seconds. The position, when velocity is zero, is :-
सम्बन्ध t = √x + 3 एक गतिशील कण की स्थिति को व्यक्त करता है जहाँ x मीटर में और सेकण्ड में है। वह स्थिति क्या t होगी जब वेग शून्य हो ?

11 / 20

A body starts from rest and with a uniform acceleration of 10 ms- 2 for 5 seconds. During the next 10 seconds it moves with uniform velocity. The total distance travelled by the body is :-
एक पिण्ड विरामावस्था से प्रारंभ होकर 5 सेकण्ड तक एक समान त्वरण 10 m/s2 से गति करता है। अगले 10 सेकण्ड तक एक समान वेग से गति करता है, पिण्ड द्वारा कुल तय की गई कुल दूरी होगी :

12 / 20

Which of the following equations represents the motion of a body moving with constant finite acceleration? in these equations, y denotes the displacement in time t and p, q and r are arbitary constants :
निम्न में से कौन सी समीकरण नियत परिमित त्वरण से गतिशील एक वस्तु की गति को प्रदर्शित करती है? इन समीकरणों में प्रदर्शित समय मेंy विस्थापन व p q तथा स्वैच्छिक नियतांक है?

13 / 20

A body at rest is imparted motion to move in a straight line. It is then obstructed by an opposite force, then:
एक वस्तु स्थिरावस्था से सीधी रेखा में गति करना प्रारम्भ करती हैं। इसकी गति को एक बाह्य बल लगाकर अवरोधित किया जाए तो :

14 / 20

If a body starts from rest, the time in which it covers a particular displacement with uniform acceleration is :
यदि एक वस्तु स्थिरावस्था से गति प्रारम्भ करती है तो नियत त्वरण के साथ इसको निश्चित दूरी तय करने में लगा समय है

15 / 20

The displacement of a particle starting from rest (at t=0) is given by s = 6t2 - t3 The time when the particle will attain zero velocity again, is :
विरामावस्था (t=0 पर) से गतिशील किसी कण का विस्थापन s =  6t2-t3 द्वारा व्यक्त किया जाता है। वह समय जिस पर कण का वेग पन: शून्य हो जाये होगा :

16 / 20

Which of the following relations representing displacement x of a particle describes motion with constant acceleration ?
नियत त्वरण के साथ गति कर रहे एक कण का विस्थापन x निम्न में से कौनसे सम्बन्ध से प्रदर्शित होता है?

17 / 20

The displacement of a particle is represented by the following equation : s = 3t3 + 7t2 + 5t + 8 where s is in metres and t in seconds. The acceleration of the particle at t = 1s is :-
एक कण का विस्थापन समीकरणs = 3t3 + 7t2 + 5t + 8 द्वारा प्रदर्शित किया जाता है, जहाँs मीटर में और t सेकण्ड मे है।t = 1 सेकण्ड पर कण का त्वरण है :

18 / 20

The velocity-time relation of an electron starting from rest is given by u = kt, where k = 2 m/s2. The distance traversed in 3 sec is :
स्थिरावस्था से गति प्रारम्भ करने वाले इलेक्ट्रॉन के वेग-समय सम्बन्ध को u = kt के द्वारा व्यक्त किया जाता है। जहाँ k = 2m/s2 है। 3 सेकण्ड में तय की गयी दूरी होगी :

19 / 20

A particle moves along a straight line such that its displacement at any time t is given by s = t3 - 6t2 + 3t + 4 metres. The velocity when the acceleration is zero is :
एक कण एक सरल रेखा के अनुदिश इस प्रकार गतिशील है कि किसी समय पर इसका विस्थापन s= t3 - 6t2 +3t+4m द्वारा व्यक्त किया जाता है। जब त्वरण शून्य हो तो वेग होगा :

20 / 20

If a car at rest accelerates uniformly to a speed of 144 km/h in 20 seconds, it covers a distance of :
यदि एक स्थिर कार 20 सेकण्ड में 144 km/h की चाल तक समरूप त्वरण से त्वरित होती है, तो इसके द्वारा तय की गयी दूरी होगी :

Your score is

The average score is 38%

0%




Welcome to the online physics test series for the NEET & JEE entrance exam. On this page you can find chapter wise physics mock tests for the NEET & JEE  exam. Practicing physics questions is very important as it helps in clear the concepts over a period of time. With these NEET & JEE physics questions, you can get a boost in your confidence when it comes to problem-solving in physics.

  • The test is of 20-minutes duration and it contains 20 Questions.
  • Practicing such tests would give you added confidence while attempting your exam.
  • Why wait to take the test and get an instant evaluation.

Leave a Comment

Your email address will not be published.

You cannot copy content