0%
1

All The Best


Created on

Physics

CURRENT ELECTRICITY

CURRENT ELECTRICITY TEST - 05

1 / 20

A voltmeter of 998 ohms resistance is connected to a cell of emf 2 volts, having internal resistance of 2 ohms, The error in measuring emf will be :-
998 ओम प्रतिरोध वाला वोल्टमीटर 2 वोल्ट वि. वा. ब. व 2 ओम आंतरिक प्रतिरोध वाले सेल से जोड़ा गया है, वि.वा. बल के मापन में त्रुटि होगी

2 / 20

Resistance in the two gaps of a meter bridge are 10 ohms and 30 ohms respectively. If the resistances are interchanged, the balance point shifts by :–
मीटर सेतु के दो रिक्त स्थानों में क्रमश: 10 ओम और 30 ओम प्रतिरोध लगाए गए है। यदि प्रतिरोधों को आपस मे बदल दिया जाए तो सन्तुलन बिन्दु कितना स्थानांतरित होगा :

3 / 20

A 1 Ω voltmeter has a range of 1V. Find the additional resistance which has to be joined with the series in voltmeter to increase the range of voltmeter to 100 V :–
1Ω प्रतिरोध वाले वोल्टमीटर की परास 1V है 100V करने के लिए इसके श्रेणीक्रम में कितना प्रतिरोध जोड़ना पड़ेगा :

4 / 20

An unknown resistance R1 is connected in series with a resistance of 10 Ω. This combination is connected to one gap of a metre bridge while a resistance R2 is connected in the other gap. The balance point is at 50 cm. Now, when the 10 Ω resistance is removed the balance point shifts to 40 cm. The value of R1 is (in ohms) :–
एक अज्ञात प्रतिरोध R1, 10Ω प्रतिरोध के श्रेणी क्रम में जोड़ा गया है। इस संयोजन को मीटर सेतु के पहले रिक्त स्थान में जोड़ा गया है जबकि अन्य प्रतिरोध R2 को दूसरे रिक्त स्थान में जोड़ा गया है, संतुलन बिन्दु 50 cm पर प्राप्त होता है। अब यदि 10Ω प्रतिरोध को हटा दिया जाए तो संतुलन बिन्दु 40 cm पर प्राप्त होता है तो R1 का मान (ओम में) होगा :

5 / 20

In the potentiometer circuit shown in the figure, the balancing length AJ = 60 cm when switch S is open. When switch S is closed and the value of R = 5 Ω, the balancing length AJ' = 50 cm . The internal resistance of the cell C' is :-
दर्शाये गये विभवमापी परिपथ में जब स्विच S खुला हे तो सन्तुलन लम्बाई AJ = 60cm है। S बन्द है R = 5Ω m सन्तुलन लम्बाई AJ' = 50cm है। C' का आन्तरिक प्रतिरोध होगा

6 / 20

In the shown arrangement of the experiment of a meter bridge if AC, corresponding to null deflection of galvanometer, is x then what would be its value if the radius of the wire AB is doubled :-
दर्शाये गये मीटर सेतु प्रयोग में यदि धारामापी में शून्य विक्षेप के लिए सन्तुलन लम्बाई AC = x यदि तार AB की त्रिज्या दुगनी कर दी जाये:

7 / 20

For different values of resistance, R power consumptions in R are given. Then which of the following values are not possible ?
प्रतिरोध R के भिन्न-भिन्न मान के लिए R में शक्ति व्यय के मान दिए गए है। निम्न में से कौनसे मान सम्भव नही है :
(a) 2 W (b) 5 W
(c) 8 W (d) 4 W

8 / 20

A galvanometer of resistance 100 Ω gives full defection for a current of 10–5 A. The value of shunt required to convert it into an ammeter of range 1 ampere, is :-
100 Ω के एक गेल्वेनोमीटर में 10-5A धारा प्रवाहित करने पर पूर्ण स्केल का विक्षेप प्राप्त होता है। इसे 1 एम्पियर परास के अमीटर में बदलने के लिए प्रयुक्त शंट का प्रतिरोध होता:

9 / 20

20% of the main current passes through the galvanometer. If the resistance of the galvanometer is G, then the resistance of the shunt will be :-
यदि किसी धारामापी में से मुख्य धारा की केवल 20% धारा प्रवाहित होती है। यदि धारामापी का प्रतिरोध G है

10 / 20

There are three voltmeters of the same range but of resistances 10000 Ω, 8000 Ω and 4000 Ω respectively. The best voltmeter among these is the one whose resistance is :–
समान परास के तीन वोल्ट-मीटर हैं जिनके प्रतिरोध क्रमशः 10000Ω, 8000Ω एव 4000Ω वोल्टमीटर का प्रतिरोध है :

11 / 20

In the circuit shown in figure, the power which is dissipated as heat in the 6 Ω resistor is 6 W. What is the value of resistance R in the circuit ?
यदि 6Ω प्रतिरोध में शक्ति व्यय 6 W है। R का मान क्या होगा ?

12 / 20

A galvanometer has 36 Ω resistance. If a 4 Ωshunt is added to this, the fraction of current that passes through the galvanometer is :-
एक गेल्वेनोमीटर का प्रतिरोध 36Ωहै 4Ω का शंट जोड़ देते है तो गेल्वेनोमीटर से प्रवाहित होने वाली धारा का अंश है

13 / 20

A galvanometer of 100 Ω resistance yields complete deflection when 10 mA current flows. What should be the value of shunt so that it can measure currents upto 100 mA ?
100 ओम प्रतिरोध वाला गेल्वेनोमीटर 10 mA धारा प्रवाहित होने पर पूर्ण विक्षेप देता है। शन्ट का मान क्या होना चाहिए ताकि यह 100 mA माप सके :

14 / 20

If power consumptions in R1, R2 & R3 are the same then what will be the relation between them ?
यदि दिखाए गए परिपथ में R1, R2, व R3 में शक्ति व्यय समान है। तब इनमें क्या सम्बन्ध होगा

15 / 20

In order to change the range of a galvanometer of G Ω resistance from V volts to nV volts what will be the value of resistance in Ω connected in series with it :–
G ओम प्रतिरोध वाले गेल्वेनोमीटर की परास V वोल्ट से nV वोल्ट परिवर्तित करने के लिए, इसके श्रेणीक्रम में लगाए जाने वाले प्रतिरोध का मान क्या होगा :

16 / 20

The resistance of a galvanometer is G ohms and the range is 1 volt. The value of resistance (in Ω) used to convert it into a voltmeter of range 10 volts is :-
गैल्वे G ओम और इसकी परास एक वोल्ट है। इसको 10 वोल्ट परास के वोल्ट मीटर में बदलने हेतु आवश्यक प्रतिरोध का मान होगा

17 / 20

It is observed in a potentiometer experiment that no current passes through the galvanometer, when the terminals of a cell are connected across a certain length of the potentiometer wire. On shunting the cell by a 2 Ω resistance, the balancing length is reduced to half. The internal resistance of the cell is :-
विभवमापी के प्रयोग में यह प्रेक्षित किया गया है कि जब सेल के सिरों को विभवमापी के तार की निश्चित लम्बाई से जोड़ा जाता है तो धारामापी से कोई धारा नहीं गुजरती है। सेल को 2 ओम प्रतिरोध से शंटित करने पर संतुलन लम्बाई आधी रह जाती है सेल का आन्तरिक प्रतिरोध है

18 / 20

If the rheostat slider were to move from the extreme right to the far left, How will the reading of voltmeter V1 change?
यदि धारा नियन्त्रक (theostat) कुंजी (slider) को बिल्कुल दांये से दूर बांयी ओर तक चलाया जाये, तो वोल्टमीटर V1 का पाठ्यांक किस प्रकार परिवर्तित होगा ?

19 / 20

An ammeter and a voltmeter are joined in series to a cell. Their readings are A and V respectively. If a resistance is now joined in parallel with the voltmeter
एक अमीटर व एक वोल्टमीटर एक सेल के साथ श्रेणीक्रम में जोड़े जाते हैं। उनके पाठ्यांक क्रमश: A व V हैं। प्रतिरोध, वोल्टमीटर के साथ समान्तर क्रम में जोड़ा जाता है:

20 / 20

A galvanometer acting as a voltmeter will have :
एक गेल्वैनोमीटर वोल्टमीटर का कार्य करता है। इस व्यवस्था में गेल्वैनोमीटर की कुण्डली के साथ जुड़ा होगा:

Your score is

The average score is 20%

0%




Welcome to the online physics test series for the NEET & JEE entrance exam. On this page you can find chapter wise physics mock tests for the NEET & JEE  exam. Practicing physics questions is very important as it helps in clear the concepts over a period of time. With these NEET & JEE physics questions, you can get a boost in your confidence when it comes to problem-solving in physics.

  • The test is of 20-minutes duration and it contains 20 Questions.
  • Practicing such tests would give you added confidence while attempting your exam.
  • Why wait to take the test and get an instant evaluation.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content