0%
1

All The Best

All The Best


Created on

Physics

CURRENT ELECTRICITY

CURRENT ELECTRICITY TEST - 06

1 / 20

A 6 volts battery is connected to the terminals of a three metres long wire of uniform thickness and 100 ohm resistance. The potential difference between two points on the wire separated by a distance of 50 cm will be :–
6 वोल्ट की एक बै 100 ओम प्रतिरोध की एक समान मोटाई की तीन मीटर लम्बी तार के सिरों से जोड़ा गया है। इस तार पर दो बिन्दु परस्पर 50cm की दूरी पर लिए जाएँ तो उनका विभवान्तर होगा

2 / 20

In the circuit shown, if a conducting wire is connected between points A and B, the current in this wire will :–
दर्शाये परिपथ में यदि एक चालक तार को बिन्दु A व B के मध्य जोड़ दिया जाए तो इस तार में धारा :

3 / 20

A galvanometer of resistance 50 Ω is connected to a battery of 3 V alongwith a resistance of 2950 Ωin series. A full scale deflection of 30 divisions is obtained in the galvanometer. In order to reduce this deflection to 20 divisions, the resistance in series should be :-
50Ω प्रतिरोध के एक गैलवैनोमीटर को 3 V की बैटरी से इस तरह जोड़ा गया है कि 2950Ω का रोधक इससे श्रृंखलाबद्ध जुड़ा है। इस स्थिति में गैलवैनोमीटर में 30 प्रभागों का पूरी स्केल का विक्षेपन होता है विक्षेपन को 20 प्रभाग का होने के लिये श्रृंखलाबद्ध प्रतिरोध को होना होगा :

4 / 20

The sensitivity of a potentiometer is increased by
विभवमापी की सुग्राहिता बढ़ाई जा सकती है

5 / 20

In the following diagram, the deflection in the galvanometer in a potentiometer circuit is zero, then :-
दिये गये चित्र में विभवमापी परिपथ में धारामापी का विक्षेप शून्य है तो

6 / 20

In the following circuit, the reading of the voltmeter will be :- (in volts)
संलग्न परिपथ में वोल्ट मीटर का पाठ्यांक (वोल्ट में) है:

7 / 20

Length of a potentiometer wire is kept long and uniform to achive :–
विभवमापी के तार की लम्बाई अधिक तथा एक समान रखी जाती है क्यों :

8 / 20

In the circuit shown, the current through the 4 Ω resistor is 1 A when the points P and M are connected to a d.c. voltage source. The potential difference between the points M and N is :-
जब इस चित्र के बिन्दुओं P औ M को एक d.c. वोल्टता स्रोत से जोड़ा गया, तो 4Ω के प्रतिरोध में चलने वाली धारा 1 ऐम्पियर थी इस अवस्था में M औ N बिन्दुओं का विभव-अन्तर होगा :

9 / 20

AB is a potentiometer wire of length 100 cm and resistance 10 ohms. It is connected in series with a resistance R = 40 ohms and a battery of e.m.f. 2 V and negligible internal resistance. If a source of unknown e.m.f. E is balanced by 40 cm length of the potentiometer wire, the value of E is :-
विभवमापी तार AB की लम्बाई 100cm तथा प्रतिरोध 102 है। R = 40 m प्रतिरोध तथा 2 वोल्ट वि. वा. बल एवं नगण्य आंतरिक प्रतिरोध वाली बैटरी के साथ श्रेणी क्रम में जोड़ा गया है। यदि किसी अज्ञात वि. वा. बल E के स्रोत को विभवमापी के तार की 40cm लम्बाई पर सन्तुलित किया जाता है, तो E का मान होगा -

10 / 20

The following diagram shows the circuit for the comparison of e.m.f. of two cells. The circuit can be corrected by :-
निम्न चित्र में दो सेलों के वि. वा. बलों की तुलना के लिए परिपथ दिखाया गया है, परिपथ को सही किया जा सकता है

11 / 20

The emf of a standard cell is balanced over a 150 cm length of a potentiometer wire. When this cell is shunted by a 2 Ω resistance, the null point is obtained at 100 cm. The value of internal resistance of the cell is :-
एक मानक सेल का विद्युत वाहक बल विभवमापी के तार की 150 cm लम्बाई पर सन्तुलित होता है। जब इस सेल को 2 ओम प्रतिरोध से शन्ट कर दिया जाता है तो शून्य विक्षेप विन्दु 100cm लम्बाई पर है। सेल का आन्तरिक प्रतिरोध है

12 / 20

In a potentiometer experiment when terminals of the cell are connected at distance of 52 cm on the wire, then no current flows through it. When 5 Ω shunt resistance is connected across the cell the balancing length is 40 cm. The internal resistance of the cell (in Ω) is :–
एक विभवमापी के प्रयोग में जब सेल के सिरों को विभवमापी के 52 cm पर रखा जाता है तो उसमें धारा प्रवाहित नहीं होती है। जब उसे 5Ω के प्रतिरोधक से शन्ट किया जाता है तो संतुलित लम्बाई 40 cm आती है। आंतरिक प्रतिरोध होगा :

13 / 20

The correct circuit for the determination of internal resistance of a battery by using potentiometer is :
विभवमापी के प्रयोग द्वारा किसी बैटरी का आंतरिक प्रतिरोध ज्ञात करने हेतु प्रयुक्त सही परिपथ है:

14 / 20

A potential gradient is established in the wire by a standard cell for the comparison of emf's of two cells in a potentiometer experiment. Which possibility of the following will lead to the failure of the experiment ?
विभवमापी प्रयोग में दो सेलों के विद्युत वाहक बलों की तुलना करने हेतु एक मानक सेल द्वारा तारों में विभव प्रवणता उत्पन्न की जाती हैं। निम्न लिखित में से कौन सी संभावना प्रयोग को असफल बना देगी ?

15 / 20

In figure battery E is balanced over a 55 cm length of potentiometer wire but when a resistance of 10 Ω is connected in parallel with the battery then it balances over a 50 cm length of the potentiometer wire then internal resistance r of the battery is :–
चित्र में बैटरी E विभवमापी तार की 55cm लम्बाई पर संतुलित होती है किन्तु जब एक 10Ω का प्रतिरोध इस बैटरी के साथ समान्तर क्रम में लगाया जाता है, तो संतुलन लम्बाई 50cm हो जाती है, तो बैटरी के आंतरिक प्रतिरोध का मान है

16 / 20

The resistance of an ammeter is 13 Ω and its scale is graduated for currents upto 100 A. After an additional shunt is connected to this ammeter it becomes possible to measure currents upto 750 amperes by this meter. The value of shunt- resistance is :–
एक अमीटर का प्रतिरोध 13Ω है 100 ऐम्पियर तक की धाराऐं माप सकता है। इसमें अतिरिक्त शन्ट जोड़ने पर यह अमीटर 750 ऐम्पियर तक की धाराऐं मापने के लिए सक्षम हो जाता है। अतिरिक्त शन्ट का प्रतिरोध होगा :

17 / 20

The voltage of clouds is 4 × 106 volt with respect to ground. In a lightening strike lasting 100 msec, a charge of 4 coulombs is delivered to the ground. The power of lightening strike is –
बादलों की वोल्टता जमीन की अपेक्षा 4 x 106 वोल्ट है एक 100 msec अवधि के तडित् आघात में, 4 कूलॉम का आवेश जमीन को प्रदान होता है। तडित् आघात की शक्ति है

18 / 20

Potentiometer wire length is 10 m, having a total resistance of 10 Ω. If a battery of emf 2 volts (of negligible internal resistance) and a rheostat are connected to it then the potential gradient is 20 mV/m; find the resistance imparted through the rheostat :-
विभवमापी के तार की लम्बाई 10 मी तथा कुल प्रतिरोध 10Ω है। इससे 2 वोल्ट वि.वा. बल (आन्तरिक प्रतिरोध नगण्य) की बैटरी व धारा नियंत्रक को जोड़ा गया है। यदि विभव प्रवणता का मान 20 mV/मी हो तो धारा नियंत्रक में प्रयुक्त प्रतिरोध का मान होगा

19 / 20

Potentiometer is used for measuring :
विभवमापी का प्रयोग निम्न के मापन में किया जाता है :

20 / 20

A current of 3 amperes flows through the 2 Ωresistor shown in the circuit. The power dissipated in the 5 Ω resistor is :-
इस चित्रित परिपथ के 2Ω के प्रतिरोध में चलने वाली धारा का मान 3 ऐम्पियर है। 5Ω के प्रतिरोध से शक्ति (पावर) के क्षय का मान होगा :

Your score is

The average score is 45%

0%




Welcome to the online physics test series for the NEET & JEE entrance exam. On this page you can find chapter wise physics mock tests for the NEET & JEE  exam. Practicing physics questions is very important as it helps in clear the concepts over a period of time. With these NEET & JEE physics questions, you can get a boost in your confidence when it comes to problem-solving in physics.

  • The test is of 20-minutes duration and it contains 20 Questions.
  • Practicing such tests would give you added confidence while attempting your exam.
  • Why wait to take the test and get an instant evaluation.

Leave a Comment

Your email address will not be published.

You cannot copy content