Electrostatics Online Test – 1




0%
84

All The Best


Created on

Physics

Electrostatics Test - 1

Complete Electrostatics.

1 / 21

A charge +q is at a distance L/2 above the centre of a horizontal square of side L. Then the flux linked with the surface is :-
भुजा L का क्षैतिज वर्ग के केन्द्र से L/2 ऊँचाई पर आवेश (+q) रखने पर, सतह से सम्बद्ध फ्लक्स का मान

2 / 21

Three charges Q, +q and +q are placed at the vertices of a right-angled (isosceles) triangle . The net electrostatic energy of the configuration is zero, if Q is equal to :-
समकोण समद्विबाहु त्रिभुज के शीर्षो पर आवेश Q, +q व +q रखे गये हैं। यदि इस विन्यास की कुल वैद्युत स्थितिज ऊर्जा शून्य हो तो Q का मान होगा :

3 / 21

The electrostatic potential inside a charged spherical ball is given by Φ = ar2 + b, where r is the distance from the centre, a & b are constants. Then the charge density inside the ball is :-
आवेशित गेंद के किसी आन्तरिक बिन्दु के लिए वैद्युत विभव Φ = ar2 + b, से दिया गया है जहाँ गेंद के केन्द्र से दूरी तथा a व b नियतांक है। गेंद के भीतर आवेश घनत्व का मान होगा

4 / 21

Two point charges placed at a distance r in air exert a force F on each other. The distance at which they experience force 4F when placed in a medium of dielectric constant K = 16 is :-

वायु में r दूरी पर रखे दो बिन्दु आवेश एक दूसरे पर F बल आरोपित करते है। परावैधुतांक (K = 16) के माध्यम में उन्हे किस दूरी पर रखा जाए जिससे कि ये एक दूसरे पर 4F बल आरोपित करें :

5 / 21

Potential difference between the centre and the surface of a solid sphere of radius 'R' and uniform charge density ρ is :-
त्रिज्या 'R' व एकसमान घनत्व p के ठोस गोले के केन्द्र व पृष्ठ के मध्य विभवान्तर होगा

6 / 21

Four identical particles each of charge(q) & mass (m) are in equilibrium due to only electrostatic & gravitational force as shown, the ratio (q/m) is :-
आवेश (q) व द्रव्यमान (m) के चार सर्वसम कण केवल विद्युत तथा गुरूत्वीय बल के कारण चित्रानुसार संतुलन में हो तो (q/m) का मान होगा

7 / 21

Three concentric metallic spherical shells of radii R, 2R, 3R are given charges Q1,Q2,Q3 respectively.If the surface charge densities on the outer surface of the shells are equal, then the ratio of the charges given to the shells Q1,Q2,Q3 is:-
त्रिज्या R, 2R, 3R वाले तीन संकेन्द्रीय धात्विक गोलों को क्रमश: आवेश Q1,Q2,Q दिये जाते हैं। यदि गोलों की बाहृय सतह पर आवेश घनत्व समान हो, तो Q1,Q2,Q3, के अनुपात होंगे :

8 / 21

Two identical conducting spheres A and B have –10μC & 2μC charges respectively. If these spheres are connected by a wire then the charge flown through wire will be :-
समान आकार के दो चालकीय गोलों पर आवेश क्रमश: -10μC व 2μC है। यदि इन्हें पतले तार से जोड़ दे तो, तार में से कितना आवेश प्रवाहित होगा :

9 / 21

A particle of mass 2 g and charge 1μC is held at a distance of 1m from a fixed charge 1 mC. If the particle is released, then its speed, when it is at a distance of 10 m from the fixed charge
is :-
2 g द्रव्यमान व 1uC आवेश के कण को 1mC के स्थिर आवेश से 1 m दूरी पर रखा जाता है। यदि कण को मुक्त किया जाए, जब यह स्थिर आवेश से 10mकी दूरी पर पहुँचे तब इसकी चाल होगी

10 / 21

The electric flux through a closed surface area S enclosing charge Q is . If the surface area is doubled, then the flux is :-
S पृष्ठीय क्षेत्रफल वाले बन्द पृष्ठ में आवेश Q रखने पर उस से फ्लक्स ) निर्गत होता है। यदि पृष्ठीय क्षेत्रफल को दो गुना कर दे तो निर्गत फ्लक्स होगा

11 / 21

Two charges of unit magnitude placed at A and B produce electrostatic potential along the line AB as shown. What are the values of the charges at A and B ?
एकाँक परिमाण के दो आवेश A व B को सरल रेखा में रखने पर उनके द्वारा उत्पन्न विभव को चित्र में दर्शाया गया है। आवेश A व B के मान होंगे।

12 / 21

When a charge of 2 μC is carried from a point A to point B, the work done by electric field is 50 μJ. The potential difference between A and B is :-
जब 2 μC के आवेश को बिन्दु A से बिन्दु B तक ले जाया जाता है तो वैद्युत क्षेत्र द्वारा किया गया कार्य 50 μJ है। A और B के मध्य विभवान्तर होगा।

13 / 21

In a certain region of space the potential is given by V = k [2x2 –y2 +z2 ]. The magnitude of electric field at point P(1,1,1) will be :-
किसी दिए गए क्षेत्र में विभव V = k [2x2 –y2 +z2 ] से दिया जाऐं तो बिन्दु P(1,1,1) पर वैधुत क्षेत्र का परिमाण

14 / 21

Positive and negative point charges of equal magnitude are kept at a (0,0, a/2) and  (0,0, -a/2) respectively. The work done by electric field when another positive charge is moved from (–a,0,0) to (0,a,0) is :-
समान परिमाण के बिन्दु धनावेश व बिन्दु ऋणावेशों को क्रमशः (0,0, a/2) व  (0,0, -a/2) पर रखे गये हैं। वैधुत क्षेत्र के द्वारा किया गया कार्य बताऐ जब एक अन्य धनावेश को (−a,0,0) से (0,a,0) तक ले जाया जाता है :

15 / 21

A spherical droplet having a potential of 2.5 volts is obtained as a result of merging 125 identical conducting droplets. The potential of the constituent droplet is :-
125 एक समान चालकीय बूंदो को मिलाकर 2.5 वोल्ट वाली A B एक बड़ी बूँद का निर्माण किया जाता है, तो उपयोग में ली गई छोटी बूँदों का विभव होगा

16 / 21

An electron travels a distance of 0.1 m in an electric field of intensity 3200 V/m, enters perpendicularly to the field with a velocity 4 × 107 m/s. What is its deviation in its path ?
एक इलेक्ट्रॉन 4 × 107 मी/सै. वेग से 3200 V/m तीव्रता वाले वैद्युत क्षेत्र में लम्बवत् प्रवेश करता है तथा 0.1 मीटर दूरी तय करता है। वह अपने पथ से कितना विक्षेपित होगा ?

17 / 21

Two balls carrying charges +7μC and –5μC attract each other with a force F. If a charge –2μC is added to both, the force between them will be :-
दो गेंद जिन पर +7uC व – SuC आवेश है, एक दूसरे को F बल से आकर्षित करती है। यदि दोनों में -2uC आवेश जोड़ दें, तो इनके बीच बल हो जाएगा

18 / 21

An electric dipole placed at an angle of 30° with an electric field of intensity 2 ×105 N/C experiences a torque equal to 4 N-m. Calculate the charge on the dipole, if the dipole length is 2 cm :-
2 ×105 N/C  की तीव्रता के वैद्युत क्षेत्र से 30° के कोण पर रखा वैद्युत द्विध्रुव यदि 4 N-m का बलाघूर्ण अनुभव करें तो उस पर आवेश का मान बताए, यदि द्विध्रुव की लम्बाई 2 cm है

19 / 21

Magnitude of electric field at the centre of square ABCD (side a) is :-
दिए गएवर्ग ABCD (भुजा a) के केन्द्र पर वैद्युत क्षेत्र का परिमाण होगा :

20 / 21

The rupture of air medium occurs at E = 3 × 106 V/m. The maximum charge that can be given to a sphere of diameter 5m will be :-
E = 3 × 106 V/m पर वायु का रोधन टुट जाता है। अधिकतम आवेश जो 5 मीटर व्यास वाले गोले को दिया जा सकता है होगा

21 / 21

10 μC charge is uniformly distributed over a thin ring of radius 1m. A particle of mass 0.9 g. and charge (–1μC) is placed at the centre of the ring. Find the time period of its SHM, if it is displaced along the axis of ring by a small amount :-
1m त्रिज्या की वलय पर 10 μC आवेश एकसमान रूप से वितरित है। 0.9 ग्राम द्रव्यमान व (-1μC ) के आवेश वाले कण को वलय के केन्द्र पर रखा जाता है। कण की सरल आवर्त गति का आवर्तकाल बताऐं, यदि इसे वलय के अक्ष के अनुदिश लघु विस्थापित करते है :

Your score is

The average score is 23%

0%




1 thought on “Electrostatics Online Test – 1”

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *