Reasoning Coding Decoding Notes in Hindi

Coding Decoding

सांकेतिक भाषा परीक्षण के अंतर्गत किसी बात को कूट भाषा में कहने की रीति को ‘कोड'(Code) तथा उस कूट भाषा के उसके वास्तविक अर्थ में कहने की प्रक्रिया को ‘डिकोड’ (Decode)   कहा जाता है।

यह सांकेतिक भाषा कुछ विशेष नियमों के अनुसार परिवर्तित होती है। सबसे पहले दिए गए उदाहरण के द्वारा उस नियम को ज्ञात कर प्रश्न का हल किया जता है।




इसके अंतर्गत पूछे जाने वाले प्रश्न अंग्रेजी वर्णमाला तथा संख्याओं पर आधारित होते हैं। अंग्रेजी वर्णमाला तथा संख्याओं का प्रयोग सामान्यत: अंग्रेजी वर्णमाला में अक्षरों के क्रम स्थानों के आधार पर किया जाता है। अत: इसके अंतर्गत पूछे जाने वाले प्रश्नों को हल करने के लिए यदि हम अंग्रेजी वर्णमाला के 26 अक्षरों के क्रम को याद कर लेते हैं तो प्रश्न आसानी से तथा शीघ्रतम हल हो सकेंगे।

सांकेतिक भाषा परीक्षण के प्रश्नों को हल करने के लिए निम्न मूलभूत तथ्यों एवं सुझावों पर ध्यान दें-

  1. अंग्रेजी वर्णमाला में अक्षरों की स्थिति
  2. वर्णमाला के प्रत्येक अक्षर के विपरीत अक्षर का ज्ञान
  3. वर्णमाला के क्रम में एक अक्षर या वर्ण के आगे या पीछे के अक्षर को ज्ञात करने की विधि का ज्ञान
  4. अंग्रेजीवर्णमालामें अक्षरों की स्थिति

अंग्रेजी वर्णमाला में कुल 26 अक्षर होते हैं जो कि AB………Z  तक होते हैं इस वर्णमाला में अक्षरों के स्थान निर्धारित होते हैं, जैसे A के बाद B आता है तथा x के बाद  Y आता है तथा इनके स्थान को यदि अंकों में व्यक्त किया जाए तो A का स्थान पहला तथा Z का स्थान 26वाँ होगा।

अंग्रेजी वर्णमाला के अक्षरों का उनके क्रम स्थान के आधार पर निरूपण निम्न है-

अक्षरABCDEFGHIJKLM
क्र.स.12345678910111213

(1)  याद करने के लिए निम्न नियम को अपनाया जा सकता है

जैसे – एक शब्द है ‘इजोटी’ (EJOTY)

EJOTY
51015 

 

2025

(EJOTY) शब्द को यद करने पर आप वर्णमाला के 5वें, 10वें, 15वें, 20वें, और 25वें वर्ण को याद कर सकेंगे। यह शब्द याद करके आप उस वर्ण के पहले और बाद के वर्णों को आसानी से जान लेते हैं। जैसे – यदि हम J को लें तो  J = 10, J के पहले I आता है। अत: I = 9 तथा J के बाद  K आता है। अत: K = 11 होगा। इसी प्रकार अन्य चार अक्षरों से समस्त वर्णों  या अक्षरों को ज्ञात किया जा सकता है।

(2)  उपरोक्त के अलावा हम निम्न विधि से और अक्षरों की स्थिति को भी ज्ञात कर सकते हैं।

जैसे –

  • F = 6 =  6

अर्थात् यदि F अक्षर के नीचे के भाग को मिला दें तो यह अंक 6 जैसा बनता है। अत: F का वर्णमाला में स्थिति 6 होगा।

  • H = 8 =  8

H के ऊपर तथा नीचे के भाग को यदि मिला दिया जाए तो यह अंक 8 जैसा बनता है। अत: H का वर्णमाला में स्थिति 8 होगा।

  • I = 9 =  9

I को 9 जैसा लिखा जा सकता है। अत: = I = 9

  • M = 13 यह अंग्रेजी वर्णमाला के प्रथम अर्द्धांश का आखरी अक्षर है।

M का उल्टा W होता है। अत: =  W = 23

  • N = 14

यह अंग्रेजी वर्णमाला के द्वितीय अर्द्धांश का प्रथम अक्षर है।

  • R = B R = 18

यदि R के निचले हिस्से को जोड़ दिया जाए तो यह अंक 8 की तरह बनता है। H = 8 आप पहले ही देख चुके हैं, और वर्णमाला में 28 अक्षर नहीं होते हैं। अत: R = 18 होगा।

  • S = S = 9 = 19

यदि S के ऊपर के खुले भाग को जोड़ दिया जाये तो यह अंक 9 के समान बनता है।

I = 9 आप पहले ही देख चुके हैं और वर्णमाला में 29 अक्षर नहीं होते हैं। अत: S = 19 ही होगा।

  • T = 20

इसी प्रकार अब जो अक्षर बच गये हैं उनको भी हम याद कर सकते हैं।

वर्णमाला के प्रथम अर्द्धांश में अक्षरों A, B, C, D, E की स्थितियों को याद करने में कोई परेशानी नहीं होती तथा आपको F, H, I, J की स्थितियों के बारे में ऊपर बताया जा चुका है, अब प्रथम अर्द्धांश में केवल G,K और L अक्षर बचे हैं। G वर्णमाला में क्रम संख्या 7 पर है, अत: G = 7 याद रखें और  K = 11 तथा L = 12

वर्णमाला के द्वितीय अर्द्धांश में N(14), O(15), R(18), S(19), T(20), W(23), Y(25), Z(26) आप देख चुके हैं।

अब बचे अक्षरों P = 16, Q = 17 तथा U और V जो कि (T = 20) के बाद लगातार आते हैं U = 21 तथा  V = 22 और X = 24 को याद किया जा सकता है।




1 thought on “Reasoning Coding Decoding Notes in Hindi”

Leave a Comment

Your email address will not be published.

You cannot copy content