Please click on square box [ ] at right top corner for Full Screen




0%
0

All The Best

All The Best


Created on By aajkatopper

Physics

SEMICONDUCTOR & ELECTRONICS TEST - 3

1 / 20

In a transistor :–
एक ट्रांजिस्टर में :

2 / 20

Forbidden energy gap of Ge is 0.75 eV, maximum wave length of incident radiation of photon for producing electron - hole pair in germanium semiconductor is :–
जरमेनियम अर्धचालक में इलेक्ट्रान होल युग्म उत्पन्न करने के लिए आपतित विकिरणों के फोटोन के अधिकतम तरंगदैर्ध्य की गणना करो। जरमेनियम का वर्जित ऊर्जा अन्तराल 0.75 ev है (लगभग)

3 / 20

When a junction diode is reverse biased, the flow of current across the junction is mainly due to :–
जब संधि डायोड पश्च बायसित होता है तो इसे मुख्यता धारा किस कारण से होती है:

4 / 20

Input resistance of common emitter transistor compare with output resistance is :–
CE ट्रांजिस्टर में निर्गत की अपेक्षाकृत निवेशी का प्रतिरोध :

5 / 20

Correct statement for diode is :–
डायोड के लिए कौनसा कथन सत्य है : -

6 / 20

The width of depletion region in a p-n junction diode
किसी p-n संधि डायोड में अवक्षय क्षेत्र की चौड़ाई:

7 / 20

If a full wave rectifier circuit is operating from 50 Hz mains, the fundamental frequency in the ripple will be :–
यदि एक पूर्ण तरंग दिष्टकारी परिपथ 50Hz के मेन से कार्य कर रहा हो, तब ऊर्मिका की मूल आवृति होगी

8 / 20

In p-n junction photocell electromotive force due to monochromatic light is proportional to
p-n संन्धि प्रकाश सेल में एक-वर्णी प्रकाश से उत्पन्न प्रकाश विद्युत वाहक बल अनुक्रमानुपाती है :

9 / 20

In transistor symbols, the arrows shows the direction of :-
एक ट्रांजिस्टर के प्रतीक में तीर का चिन्ह किसकी दिशा को सूचित करता है:

10 / 20

A transistor is used in the common emitter mode as an amplifier then :–
एक ट्रांजिस्टर के उभयनिष्ठ उत्सर्जक परिपथ को प्रर्वधक के रूप में काम में लिया गया है तब :
(A) the base emitter junction is forward baised.
आधार उत्सर्जक संधि अग्र अभिनति में है
(B) the base emitter junction is reverse baised.
आधार उत्सर्जक संधि उत्क्रम अभिनति में है।
(C) the input signal is connected in series with the voltage applied to bias the base emitter junction.
निवेशी संकेत को आधार उत्सर्जक को अभिनति प्रदान करने वाले वोल्टता के साथ श्रेणी क्रम में जोड़ा जाता है
(D) the input signal is connected in series with the voltage applied to bias the base collector junction.
निवेशी संकेत को आधार संग्राहक को अभिनति प्रदान करने वाले वोल्टता के साथ श्रेणी क्रम में जोड़ा जाता है

11 / 20

Zener dode is used for :–
जीनर डायोड का उपयोग होता है:

12 / 20

When two semiconductor of p and n type are brought into contact, they form a p-n junction which acts like a :–
जब PवN का उपयोग होते है तो P-N संधि का निर्माण होता है। तो यह किसकी तरह कार्य करेगा :

13 / 20

A full wave rectifier circuit along with the input and output voltage is shown in the figure then output due to diode D2 is :–
एक पूर्ण तरंग दिष्टकारी का परिपथ निविष्ट तथा निर्गत वोल्टता के साथ चित्र में दर्शाया गया है डायोड D2 के कारण निर्गत होगा

14 / 20

In the circuit given the current through the zener diode is :-
दिए गए परिपथ में जीनर डायोड से धारा होगी :

15 / 20

For the given circuit shown in fig, to act as full wave rectifier :– a.c. input should be connected across ................. and ..................... the d.c. output would appear across ... .. ... .. .. .. .. and .....................
चित्रानुसार दिये गये परिपथ में, जो कि पूर्ण तंरग दिष्टकारी की तरह कार्य करता है, a.c. निवेशी ........... व .............. के बीच जुड़ा होना चाहिए तथा d.c. निर्गत............ व ............ के बीच लेना चाहिए :

16 / 20

Efficiency of a half wave rectifier is nearly :–
अर्द्धतरंग दिष्टकारी कि दक्षता लगभग होगी :

17 / 20

The region of transistor in which extra impurity is doped to obtain a large number of majority carrier is called as :–
ट्रांजिस्टर का वह भाग जिसमें अतिरिक्त सांद्रता से अशुद्धि मिलाकर अधिक बहुसंख्यक आवेश वाहक प्राप्त कर काम में लिया जाता है, कहलाता है: -

18 / 20

A transistor is operated in CE configuration at VCC=2 V such that a change in base current from 100 µA to 200 µA produces a change in the collector current from 9 mA to 16.5 mA. The value of current gain, b is :–
एक ट्रांजिस्टर को CE अभिविन्यास में Vcc = 2V पर इस प्रकार से काम में लिया जाता है कि आधार धारा को 100 µA से 200 µA तक परिवर्तित करने से संग्राहक धारा 9 mA से 16.5mA परिवर्तित हो जाती है तो धारा लाभ B का मान होगा

19 / 20

The electrical circuit used to get smooth DC output from a rectifier circuit is called :–
वे विद्युत परिपथ जो कि दिष्टकारी के निर्गत में DC को शुद्ध करके भेजते हैं, कहलाते हैं : -

20 / 20

An oscillator is nothing but an amplifier with :–
एक दोलित्र और कुछ नहीं बल्कि एक प्रवर्धक है

Your score is

The average score is 0%

0%




Welcome to the online physics test series for the NEET & JEE entrance exam. On this page you can find chapter wise physics mock tests for the NEET & JEE  exam. Practicing physics questions is very important as it helps in clear the concepts over a period of time. With these NEET & JEE physics questions, you can get a boost in your confidence when it comes to problem-solving in physics.

  • The test is of 20-minutes duration and it contains 20 Questions.
  • Practicing such tests would give you added confidence while attempting your exam.
  • Why wait to take the test and get an instant evaluation.

Leave a Comment

Your email address will not be published.

You cannot copy content