0%
1

All The Best

All The Best


Created on

Physics

CAPACITANCE

CAPACITANCE TEST - 04

1 / 20

The energy required to charge a parallel plate condenser of plate separation d and plate area of cross-section A such that the uniform electric field between the plates is E, is :-
एक समान्तर पट्टीकीय संधारित्र की प्लेटों के बीच की दूरी d और प्लेटों का अनुप्रस्थ परिच्छेदित क्षेत्रफल A है। इसे आवेशित कर प्लेटों के बीच का अचर वैद्युत क्षेत्र E बनाना है। इसे आवेशित करने के लिये आवश्यक ऊर्जा होगी :

2 / 20

Total energy stored in a 900 µF capacitor at 100 volts is transferred into a 100 µF capacitor. The potential drop across the new capacitor is (in volts)
100 वोल्ट पर 900 μF संधारित्र में संचित कुल ऊर्जा 100 μF संधारित में स्थानान्तरित हो जाती है। नये संधारित्र के सिरो पर विभवपात (वोल्ट में) होगा

3 / 20

A capacitor of 0.2 μF capacitance is charged to 600 V. After removing the battery, it is connected with a 1.0 μF capacitor in parallel, then the potential difference across each capacitor will become :
0.2μF धारिता का एक संधारित्र 600 V तक आवेशित किया जाता है। बैटरी को हटाने पर यह 1.0 μF धारिता के अनावेशित संधारित्र के साथ समान्तर में जोड़ा जाता है, तो संधारित्र का विभव होगा :

4 / 20

A capacitor of capacity C1 charged upto a voltage V and then connected to an uncharged capacitor of capacity C2. Then final potential difference across each will be :
C1 धारिता के एक संधारित्र को V वोल्ट तक आवेशित किया गया है, अब इसे एक अनावेशित संधारित्र C2 से जोड़ दिया जाता है तो प्रत्येक के लिए अन्तिम विभवान्तर होगा

5 / 20

Two spheres have radii 10 cm & 20 cm. One of the sphere is given 150 μC charge and connected by a wire. Their common potential will be –
दो समान गोले जिनकी त्रिज्याएँ 10 cm एवं 20cm. हैं, 150 μC आवेश दिया जाता है। अब इन्हें एक तार से जोड़ दिया जाता है तो इनका उभयनिष्ठ विभव होगा

6 / 20

Five capacitors, each of capacitance value C are connected as shown in the figure. The ratio of capacitance between P and R, and the capacitance between P and Q is :–
पाँच संधारित्र, जिनमें प्रत्येक की धारिता का मान C है में दर्शाये अनुसार संबद्ध किये गये हैं। P औ R के बीच की धारिता और P औ Q के बीच की धारिता का अनुपात है

7 / 20

Two capacitors of capacitances 3 μF and 6 μF are charged to a potential of 12 V each. They are now connected to each other with the positive plate of one joined to the negative plate of the other. The potential difference across each will be
3μF व 6μF धारिता के दो संधारित्र प्रत्येक 12 V विभव तक आवेशित किये जाते हैं। अब वे एक दूसरे से जोड़े जाते हैं। प्रत्येक की धनात्मक प्लेट दूसरे की ऋणात्मक प्लेट से जोड़ी जाती है, तो प्रत्येक के सिरों पर विभवान्तर होगा :

8 / 20

A conducting sphere of radius 10 cm is charged with 10 μC. Another uncharged sphere of radius 20 cm is allowed to touch it for some time. After that, if the spheres are separated, then surface density of charge on the spheres will be in the ratio of :
10 cm त्रिज्या के एक चालक गोले को 10 μC आवेश से आवेशित किया गया है। एक अन्य अनावेशित 20cm त्रिज्या के गोले को कुछ समय स्पर्श कराते हैं तथा इसके बाद यदि गोलों को दूर रख दिया जाए तो गोलों पर पृष्ठ आवेश घनत्व का अनुपात होगा :

9 / 20

Two condensers, one of capacity C and the other of capacity \frac{C}{2} , are connected to a V-volt battery, as shown.The work done by battery in charging fully both the condensers is :-
धारिता C और \frac{C}{2} के दो संधारित्रों को चित्र में दिखाये अनुसार V-वोल्ट की बैटरी से जोड़ा गया है : दोनों संधारित्रों को पूर्ण आवेशित करने में किया गया कार्य होगा:

10 / 20

Two metallic spheres of radii R1 and R2 are connected by a thin wire. If + q1 and + q2 are the charges on the two spheres then :
दो R1 व R2 त्रिज्या के दो धात्विक गोलों को एक तार द्वारा जोड़ा जाता है। यदि उन दोनों गोलों पर आवेश + q1 और + q2 हों तो:

11 / 20

Two parallel metal plates having charges + Q and – Q face each other with a certain separation between them. If the plates are now dipped in kerosene oil tank, the electric field between the plates will :-
दो समान्तर धातु प्लेटें एक दूसरे के सामने कुछ दूरी पर रखी हैं। इन प्लेटों पर + Q औ –Q आवेश है। यदि प्लेटों को केरोसीन के टैंक में डुबा दिया जाय तो उनके बीच विद्युत क्षेत्र:

12 / 20

In the given figure, the capacitors C1, C3, C4, C5 have a capacitance 4 μF each. If the capacitor C2 has a capacitance 10 μF, then effective capacitance between A and B will be :
दिये गये चित्र में संधारित्र C1, C3, C4, C5, प्रत्येक की धारिता 4 μF है। C2 की धारिता 10 μF हो तो A तथा B के मध्य प्रभावी धारिता होगी :

13 / 20

The charge (inμC) on any one of the 2μF capacitor and 1μF capacitor will be given respectively as :
2μF तथा 1μF के संधारित्र पर आवेश (μC में) क्रमश: होगा :

14 / 20

A 40 μF capacitor in a defibrillator is charged to 3000 V. The energy stored in the capacitor is sent through the patient during a pulse of duration 2 ms. The power delivered to the patient is :
एक डेफिब्रिलेटर (defibrillator) में एक 40 μF धारिता वाले संधारित्र को 3000 V तक आवेशित किया जाता है। संधारित्र में संग्रहित ऊर्जा 2 ms. तक स्पंद (पल्स) के रूप में एक रोगी को दी जाती है। रोगी को दी गयी शक्ति है

15 / 20

A capacitor is connected to a 10 V battery. The charge on plates is 40 μC when medium between plates is air. The charge on the plates become 100 μC when the space between the plates is filled with oil. The dielectric constant of oil is :
एक संधारित्र को 10V की बैटरी से जोड़ा जाता है। जब माध्यम हवा होती है तो प्लेटों पर 40μC आवेश होता है तथा इनके मध्य तेल भरने पर आवेश 100 μC होता है तो तेल का परावैद्युतांक है

16 / 20

Three capacitors each of capacity 4 μF are to be connected in such a way that the effective capacitance is 6 μF. This can be done by :-
4 μF धारिता वाले तीन संधारित्रों को इस प्रकार जोड़ा जाता है कि उनकी प्रभावी धारिता 6 μF है। जा सकता है

17 / 20

A parallel plate air capacitor is charged to a potential difference of V volts. After disconnecting the charging battery the distance between the plates of the capacitor is increased using an insulating handle. As a result the potential difference between the plates :-
समान्तर पट्ट वायु संधारित्र को V वोल्ट विभवान्तर तक आवेशित किया गया है। आवेशित बैटरी से हटाने के उपरान्त एक अचालक यन्त्र का प्रयोग करते हुए संधारित्र प्लेटों के बीच की दूरी बढ़ा दी गई। इसके फलस्वरूप प्लेटों के बीच क्रियाकारी विभवान्तर :

18 / 20

Energy per unit volume for a capacitor having area A and separation d kept at potential difference V is given by :
यदि संधारित्र कि प्लेटों का क्षेत्रफल (A) उनके मध्य की दूरी (d) व विभवान्तर (V) है,

19 / 20

Potential difference across C3 is:
प्रदर्शित परिपथ में C3 पर विभवान्तर होगा :

20 / 20

If potential difference across a capacitor is changed from 15 V to 30 V, work done is W. The work done when potential difference is changed from 30 V to 60 V, will be :
यदि किसी संधारित्र के सिरो पर विभवान्तर 15 V से 30 V कर दिया जाए तो किया गया कार्य W है 30 V से 60 V तक बदलने में किया गया कार्य होगा

Your score is

The average score is 35%

0%




Welcome to the online physics test series for the NEET & JEE entrance exam. On this page you can find chapter wise physics mock tests for the NEET & JEE  exam. Practicing physics questions is very important as it helps in clear the concepts over a period of time. With these NEET & JEE physics questions, you can get a boost in your confidence when it comes to problem-solving in physics.

  • The test is of 20-minutes duration and it contains 20 Questions.
  • Practicing such tests would give you added confidence while attempting your exam.
  • Why wait to take the test and get an instant evaluation.

Leave a Comment

Your email address will not be published.

You cannot copy content