0%
10

All The Best


Created on

Physics

CIRCULAR MOTION

CIRCULAR MOTION TEST - 02

1 / 20

A stone of mass 1 kg is tied to the end of a string of 1 m length. It is whirled in a vertical circle. If the velocity of the stone at the top be 4 m/s. What is the tension in the string (at that instant) ?
एक 1kg द्रव्यमान का पत्थर 1 m लम्बी रस्सी से बंधा है। यह उर्ध्वाधर वृत्त मे घुमाया जाता है। यदि शीर्ष बिन्दु पर पत्थर का वेग 4 m/s है

2 / 20

A 0.5 kg ball moves in a circle of radius 0.4 m at a speed of 4 m/s. The centripetal force on the ball is :–
0.5 kg की गेंद 4m/s की चाल से 0.4m त्रिज्या के वृत्तीय पथ पर गतिशील हैं। गेंद पर अभिकेन्द्रीय बल होगा :

3 / 20

The earth (Me = 6 × 1024 kg) is revolving round the sun in an orbit of radius (1.5 × 108) km with angular velocity of (2 × 10–7) rad/s. The force (in newton) exerted on the earth by the sun will be :-
पृथ्वी (Me = 6 x 1024 kg) सूर्य के चारों 1.5x108 km त्रिज्या वाली कक्षा में 2 x 10-7 rad/s के कोणीय वेग से चक्कर लगाती है। सूर्य द्वारा पृथ्वी पर आरोपित बल (न्यूटन में) होगा

4 / 20

A 500 kg car takes a round turn of radius 50 m with a velocity of 36 km/hr. The centripetal force is :-
500kg द्रव्यमान की कार 50m त्रिज्या के वृत्ताकार पथ पर 36 km/h वेग के साथ घूमती है। अभिकेन्द्रीय बल का मान होगा :

5 / 20

When a body moves with a constant speed along a circle :–
जब एक वस्तु वृत्ताकार पथ पर एक समान चाल से गति करती है तो -

6 / 20

ar and at represent radial and tangential acceleration. The motion of a particle will be uniform circular motion, if :–
ar और at क्रमशः त्रिज्यीय तथा स्पर्श रेखीय त्वरण को प्रदर्शित करते हैं। कण की गति एक समरूप वृत्तीय गति होगी यदि :

7 / 20

In uniform circular motion, the velocity vector and acceleration vector are
एकंसमान वृत्तीय गति में, वेग सदिश तथा त्वरण सदिश होते है।

8 / 20

If the speed and radius both are trippled for a body moving on a circular path, then the new centripetal force will be :–
वृत्ताकार गति करती हुई वस्तु की चाल तथा पथ की त्रिज्या दोनों को तिगुनी कर देने पर नया अभिकेन्द्रीय बल होगा :

9 / 20

The radius of the circular path of a particle is doubled but its frequency of rotation is kept constant. If the initial centripetal force be F, then the final value of centripetal force will be :–
एक कण के वृत्तीय पथ की त्रिज्या दुगुनी कर दी जाती है, किन्तु घूर्णन आवृत्ति नियत रखी जाती है। यदि प्रारम्भिक अभिकेन्द्रीय बल F है

10 / 20

The force required to keep a body in uniform circular motion is :-
किसी पिण्ड को एकसमान वृत्तीय गति में बनाये रखने के लिए आवश्यक बल होता है :

11 / 20

Let 'θ' denote the angular displacement of a simple pendulum oscillating in a vertical plane. If the mass of the bob is (m), then the tension in string is mg cosθ :–
माना कि एक सरल लोलक द्वारा उर्ध्वाधर तल में दोलन करते समय तय किया गया कोणीय विस्थापन θ है। द्रव्यमान m तथा धागे में तनाव mg cosθ हो तो ऐसा

12 / 20

A body is revolving with a constant speed along a circle. If its direction of motion is reversed but the speed remains the same then :–
एक वस्तु नियत चाल से वृताकार पथ पर घूम रही है। यदि इसकी घूर्णन की दिशा विपरीत हो जाये परन्तु चाल अपरिवर्तित रहे तो :
(a) the centripetal force will not suffer any change in magnitude
अभिकेन्द्रीय बल के परिमाण में कोई परिवर्तन नहीं होता है
(b) the centripetal force will have its direction reversed
अभिकेन्द्रीय बल की दिशा विपरीत हो जाती है
(c) the centripetal force will not suffer any change in direction
अभिकेन्द्रीय बल की दिशा में कोई परिवर्तन नहीं होता है।
(d) the centripetal force is doubled
अभिकेन्द्रीय बल दुगुना हो जाता है

13 / 20

In a vertical circle of radius (r), at what point in its path a particle may have tension equal to zero :–
r त्रिज्या के ऊर्ध्वाधर तल में वृत्ताकार पथ के किस बिन्दु पर तनाव शून्य हो सकता है:

14 / 20

A string of length 10 cm breaks if its tension exceeds 10 newton. A stone of mass 250 g tied to this string, is rotated in a horizontal circle. The maximum angular velocity of rotation can be :-
एक डोरी में यदि तनाव 10 न्यूटन से अधिक हो जाए तो यह डोरी टूट जाती है। 250 ग्राम द्रव्यमान का एक पत्थर 10 cm लम्बी इस डोरी से बाँधकर क्षैतिज वृत्ताकार पथ में घुमाया जाता है। घूर्णन का अधिकतम कोणीय वेग हो सकता है

15 / 20

A string of length 0.1 m cannot bear a tension more than 100N. It is tied to a body of mass 100g and rotated in a horizontal circle. The maximum angular velocity can be -
एक 0.1 मीटर लम्बाई की रस्सी 100N से ज्यादा तनाव सहन नहीं कर सकती है। 100 ग्राम द्रव्यमान की वस्तु को इससे बांधा जाता है तथा इसे क्षैतिज वृत्त में घुमाया जाता है, तो इसका अधिकतम कोणीय वेग हो सकता है

16 / 20

Radius of the curved road on national highway is R. Width of the road is b. The outer edge of the road is raised by h with respect to inner edge so that a car with velocity v can pass safely over it. The value of h is :–
राष्ट्रीय मार्ग सड़क पर किसी मोड़ की त्रिज्या R तथा चौड़ाई b है। v वेग से कार को सुरक्षित गुजरने के लिए सड़क के बाहरी किनारे को आन्तरिक किनारे की तुलना मेंh ऊँचाई से ऊपर उठाया जाता है। h का मान है :

17 / 20

The angular acceleration of particle moving along a circular path with uniform speed :–
वृत्ताकार पथ पर एक समान चाल से गतिशील कण का कोणीय त्वरण होगा :

18 / 20

The mass of the bob of a simple pendulum of length L is m. If the bob is left from its horizontal position then the speed of the bob and the tension in the thread in the lowest position of the bob will be respectively :–
L लम्बाई वाले एक सरल लोलक के गोलक का द्रव्यमान m है जब गोलक को क्षैतिज स्थिति में तानकर छोड़ दिया जाता है तो निम्नतम स्थिति में गोलक की चाल तथा धागे में तनाव क्रमश: होंगे

19 / 20

A pendulum is suspended from the roof of a rail road car. When the car is moving on a circular track the pendulum inclines :
एक पेण्डुलम कार की छत से लटका हुआ है। जब कार वृत्तीय पथ पर चलती है, तो पेण्डुलम का झुकाव होगा :

20 / 20

A motor cycle driver doubles its velocity when he is taking a turn. The force exerted towards the centre will become :-
एक मोटर साइकिल चालक जब मुड़ते हुए अपने वेग को दुगुना कर लेता है, तो तब उस पर केन्द्र की ओर लगने वाला बल हो जायेगा :

Your score is

The average score is 44%

0%




Welcome to the online physics test series for the NEET & JEE entrance exam. On this page you can find chapter wise physics mock tests for the NEET & JEE  exam. Practicing physics questions is very important as it helps in clear the concepts over a period of time. With these NEET & JEE physics questions, you can get a boost in your confidence when it comes to problem-solving in physics.

  • The test is of 20-minutes duration and it contains 20 Questions.
  • Practicing such tests would give you added confidence while attempting your exam.
  • Why wait to take the test and get an instant evaluation.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content