0%
2

All The Best

All The Best


Created on

Physics

MAGNETIC EFFECT OF CURRENT AND MAGNETISM

MAGNETIC EFFECT OF CURRENT AND MAGNETISM TEST - 03

1 / 20

A very long straight wire carries a current I. At the instant when a charge +Q at point P has velocity \vec{v}, as shown, the magnetic force on the charge is :-
चित्र में प्रदर्शित एक बहुत लम्बें सीधे तार में धारा I प्रवाहित है P पर आवेश +Q वेग \vec{v} से गतिमान होगा, इस पर क्रियाकारी बल होगा :

2 / 20

Cyclotron is used to accelerate :-
साइक्लॉट्रॉन निम्न को त्वरित करने में प्रयुक्त होता है :

3 / 20

P, Q and R long parallel straight wires in air, carrying currents as shown. The direction of resultant force on R is :-
चित्रानुसार तीनों लम्बे तारों P, Qव R में धारा प्रवाहित हो रही है, तो तार R पर परिणामी बल होगा :

4 / 20

Force exist on a current carrying wire which is placed in external magnetic field, due to :–
किसी धारावाही चालक तार को बाहय चुम्बकीय क्षेत्र में रखने पर इस पर चुम्बकीय बल निम्न कारण से लगता है:

5 / 20

A charged particle moves through a magnetic field in a direction perpendicular to it. Then the :-
एक आवेशित कण एक चुम्बकीय क्षेत्र की दिशा के लम्बवत् गति कर रहा है, तो :

6 / 20

A current carrying wire is arranged at any angle in an uniform magnetic field, then
समरूप चुम्बकीय क्षेत्र में किसी कोण पर व्यवस्थित धारावाही चालक पर :

7 / 20

Two parallel wires in free spece are 10 cm apart and each carries a current of 10 A in the same direction. The magnetic force per unit length of each wire is :-
दो लम्बे समान्तर तार परस्पर 10cm दूर व्यवस्थित है। प्रत्येक में 10 A धारा समान दिशा में प्रवाहित है। एक तार द्वारा दूसरे की प्रति एकांक लम्बाई पर चुम्बकीय बल होगा :

8 / 20

A magnetic field :-
एक चुम्बकीय क्षेत्र :

9 / 20

In a region constant uniform electric and magnetic field is present. Both field are parallel. In this region a charge realeased from rest, then path of particle is :-
एक भाग में अचर और एक समान विद्युत तथा चुम्बकीय क्षेत्र उपस्थित है। यह दोनों क्षेत्र एक दूसरे के समान्तर है। इस क्षेत्र में एक आवेशित कण को विराम अवस्था से प्रक्षेपित किया जाता है। कण का पथ होगा :

10 / 20

A rectangular loop carrying a current i1, is situated near a long straight wire carrying a steady current i2. The wire is parallel to one of the sides of the loop and is in the plane of the loop as shown in the figure. Then the current loop will :–
एक आयताकार पाश (लूप) और एक लम्बे सीधे तार में क्रमशः i1 और i2 विद्युत धारायें प्रवाहित होती है। तार पाश की एक भुजा के समानान्तर है और उसके समतलीय है, जैसाकि चित्र में दर्शाया गया है। विद्युत प्रवाहित पाश :

11 / 20

When direct current passed through a spring then it :-
जब दिष्ट धारा स्प्रिंग में से प्रवाहित होती है, तो यह :

12 / 20

When alternating current passes through a spring then it :-
जब प्रत्यावर्ती धारा स्प्रिंग में से प्रवाहित होती है, तो यह :

13 / 20

Wire in the form of a right angle ABC, with AB=3cm and BC = 4cm, carries a current of 10A. There is a uni form magnet ic f ield of 5T perpendicular to the plane of the wire. The force on the wire will be :-
समकोण ABC की आकृति के एक चालक तार में 10A की धारा प्रवाहित हो रही है, जहां AB = 3 सेमी तथा BC- 4 सेमी चालक के तल की लम्बवत् दिशा में 5T का एक समान चुम्बकीय क्षेत्र है। चालक तार पर लगने वाला बल होगा

14 / 20

An electron moves with velocity v in uniform transverse magnetic field B on circular path of radius ‘r’, then e/m for it is :-
एक इलेक्ट्रॉन v वेग से एक अनुप्रस्थ समरूप चुम्बकीय क्षेत्र B मेंr त्रिज्या के वृताकार पथ में गति करता है, तो इसके लिए e / m होगा :

15 / 20

A proton and an a-particle moving with the same velocity and enter into a uniform magnetic field which is acting normal to the plane of their motion. The ratio of the radii of the circular paths described by the proton and α-particle respectively :-
एक प्रोटान तथा α- कण समान वेग से गतिमान हैं। वे एक समान चुम्बकीय क्षेत्र में प्रवेश करते हैं जो इनकी गति के समतल पर लम्बवत कार्य करता है। इनके द्वारा प्रदर्शित वृत्तीय पथों की त्रिज्याओं का अनुपात होगा :

16 / 20

A charge 'q' moves in a region where electric field and magnetic field both exist, then force on it :-
एक आवेशq ऐसे क्षेत्र में गतिमान है, जहाँ विद्युत एवं चुम्बकीय क्षेत्र दोनों में उपस्थित है, तो इस पर बल होगा :

17 / 20

A wire PQRST carrying current I = 5A is placed in uniform magnetic field B = 2T as shown in figure If the length of part QR = 4 cm and SR = 6 cm then the magnetic force on SR edge of the wire is :-
एक तार PQRST जिसमें 5 एम्पीयर की धारा प्रवाहित हो रही है। इसको B = 2 टेसला के समरूप चुम्बकीय क्षेत्र चित्रानुसार रखते हैं। यदि QR व SR भुजा की लम्बाईयां क्रमशः 4.cm व 6 cm हो तो भुजा SR पर लगने वाला चुम्बकीय बल होगा :

18 / 20

A current carrying wire AC is placed in uniform transverse magnetic field then the force on wire AC :-
एक धारावाही चालक तार AC को चित्रानुसार समरूप चुम्बकीय क्षेत्र में रखा जाता है तो इस पर लगने वाला बल होगा :

19 / 20

A proton, deutron and an a–particle are accelerated by same potential, enter in uniform magnetic field perpendicularly. Ratio of radii of circular path respectively :-
एक प्रोटान, डयूट्रॉन और एक कण को समान विभव द्वारा त्वरित करते है और समरूप चुम्बकीय क्षेत्र के लम्बवत प्रवेश कराते है तो इनके वृतीय पथ की त्रिज्याओं का अनुपात होगा:

20 / 20

A wire PQ carries a current 'i' is placed perpendicular to a long wire XY carrying a current I. The direction of force on PQ will be:-
एक चालक तार PQ में धारा प्रवाहित हो रही है इसको एक लम्बे चालक XY के लम्बवत् रखा जाता है। लम्बे तार में। धारा प्रवाहित हो रही है, तो तार PO पर बल की दिशा होगी:

Your score is

The average score is 13%

0%




Welcome to the online physics test series for the NEET & JEE entrance exam. On this page you can find chapter wise physics mock tests for the NEET & JEE  exam. Practicing physics questions is very important as it helps in clear the concepts over a period of time. With these NEET & JEE physics questions, you can get a boost in your confidence when it comes to problem-solving in physics.

  • The test is of 20-minutes duration and it contains 20 Questions.
  • Practicing such tests would give you added confidence while attempting your exam.
  • Why wait to take the test and get an instant evaluation.

Leave a Comment

Your email address will not be published.

You cannot copy content