0%
2

All The Best

All The Best


Created on

Physics

MAGNETIC EFFECT OF CURRENT AND MAGNETISM

MAGNETIC EFFECT OF CURRENT AND MAGNETISM TEST - 10

1 / 20

A proton is performing circular motion with radius 0.5 m under effect of normal magnetic field 1 Telsa. Kinetic energy of proton is :-
एक प्रोटॉन अनुप्रस्थ चुम्बकीय क्षेत्र 1T में 0.5m त्रिज्या के पथ पर वृत्तीय गति करता है। तो प्रोटोन की गतिज ऊर्जा होगी:

2 / 20

A current i flows along the length of an infinite long, straight, thin walled pipe, then:-
अनन्त लम्बाई के एक सरल रेखीय, पतली दीवार के पाइप में धारा प्रवाहित हो रही है तो

3 / 20

A particle of charge q and mass m is moving along the x-axis with a velocity v and enters a region of electric field E and magnetic field B as shown in figure below. For which figure the net force on the charge may be zero :-
एक आवेश q जिसका द्रव्यमान m है। यह x -अक्ष के अनुदिश v वेग से ऐसे भाग में गतिमान है, जहां विद्युत क्षेत्र व चुम्बकीय क्षेत्र उपस्थित है, तो किस स्थिति के लिये आवेश पर परिणामी बल शून्य होगा

4 / 20

A long horizontal wire 'A' is rigidly fixed and an another wire 'B' which is placed directly below and parallel to wire 'A'. Wire 'B' remains suspended in air due to magnetic attraction. If direction of current is reversed in any one wire then due to gravity instantaneous acceleration of free wire 'B' (where g is acceleration due to gravity)
एक लम्बा क्षैतिज तार A दृढ़ता से बंधा है और एक दूसरा तार B, तार A के समान्तर तथा नीचे व्यवस्थित है। तार B' चुम्बकीय आकर्षण के कारण वायु में संतुलित रहता है। यदि किसी एक तार में धारा की दिशा विपरीत कर दी जाये तो मुक्त तार B का तात्क्षणिक त्वरण होगा:- (जहाँ g गुरुत्वीय त्वरण है)

5 / 20

A cyclotron provides maximum kinetic energy 2 MeV to a duetron. Find maximum kinetic energy given to a particles.
एक साइक्लोट्रॉन में ड्यूटॉन को अधिकतम गतिज ऊर्जा 2 MeV दी जा सकती है। उसमें कण की अधिकतम गतिज ऊर्जा होगी :

6 / 20

A long wire having charge density 200 C/m is moving with velocity 100 m/s as shown. The magnetic field at a distance 12 m from the wire is :-
एक लम्बा तार जिस पर आवेश घनत्व 200 C/m है, चित्रानुसार 100 m/s के वेग से गतिमान है। तार से 12 m न्य की दूरी पर चुम्बकीय क्षेत्र है :

7 / 20

Magnetic field at point 'P' due to following current distribution is :-
दिये गये धारा वितरण के कारण बिन्दु 'P' पर परिणामी चुम्बकीय क्षेत्र का मान होगा :

8 / 20

The charges 1, 2, 3 are moving in uniform transverse magnetic field then :-
कण 1, 2, 3 एक समचुम्बकीय क्षेत्र के लम्बवत् गति करते है तो

9 / 20

A charged particle moves through a magnetic field perpendicular to its direction, then : -
एक आवेशित कण एक चुम्बकीय क्षेत्र की दिशा के लम्बवत् गतिशील है, तो :

10 / 20

A particle of mass 0.5 gm and charge 2.5 x 10-8 C is moving with velocity 6 x 104 m/s. What should be the minimum value of magnetic field acting on it, so that the particle is able to move in a straight line? (g = 9.8 m/sec2)
0.5gm. द्रव्यमान तथा 2.5 x 10-8 कूलाम आवेश एक कण 6 x 104 मी/से. के वेग से गतिमान है। इस पर कार्यकारी चुम्बकीय क्षेत्र का न्यूनतम मान क्या हो कि कण सरल रेखा पर गति कर सके। (g = 9.8m/sec2 )

11 / 20

In the given figure magnetic field at the centre of ring (O) is 8\sqrt{2} T. Now it is through 90° about XX' axis, so that two semicircular parts are mutually perpendicular. Then find the value of magnetic field (in Tesla) at centre :-
दिये गये चित्र में वलय के केन्द्र (O) पर चुम्बकीय क्षेत्र 8/\sqrt{2}T है। XX'- अक्ष के सापेक्ष इसे 90° से मोड़ने पर दो परस्पर लम्बवत् अर्द्धवृत्तीय भाग प्राप्त होते है। तो केन्द्र पर चुम्बकीय क्षेत्र (टेस्ला में) का मान ज्ञात करो।

12 / 20

A metal rod of mass 10 gm and length 25 cm is suspended on two springs as shownin figure. The springs are extended by 4 cm. When a 20 ampere current passes through the rod it rises by 1 cm. Determine the magnetic field assuming accelera- tion due to gravity to be 10 m/s2.
25cm लम्बाई तथा 10 gm द्रव्यमान की एक धात्विक छड़ को दो स्प्रिंगों से चित्रानुसार लटकाया गया है। स्प्रिंगें 4cm से विस्तारित हो जाती है। जब 20 एम्पियर की धारा छड़ में से प्रवाहित होती है तो यह 1 cm से ऊपर उठ जाती है। चुम्बकीय क्षेत्र ज्ञात कीजिए। (गुरूत्वीय त्वरण का मान 10m/s2)

13 / 20

Magnetic field at point 'P' due to finite length wire LN, (where I in ampere and a in meter) is :
परिमित लम्बाई के तार LN के कारण बिन्दु P पर चुम्बकीय क्षेत्र होगा, (जहाँ । एम्पीयर में तथा a मीटर में)

14 / 20

Two thick wires and two thin wires, all of the same materials and same length form a square in the three different ways P, Q and R as shown in figure with current connection shown. The magnetic field at the centre of the square is zero in cases:-
दो समान धातु व समान लम्बाई के दो मोटे व दो पतले तार तीन तरह से (P, Q व R) वर्गाकार लूप बनाते है। जिनकी धारा की दिशा चित्र में प्रदर्शित है तो किस स्थिति में लूप के केन्द्र पर चुम्बकीय क्षेत्र का मान शून्य होगा :

15 / 20

An e– is moving parallel to a long current carrying wire as shown. Force on electron is :-
एक इलेक्ट्रॉन एक लम्बे धारवाही तार के समान्तर चित्रानुसार गतिमान हो तो इलेक्ट्रॉन पर बल होगा :

16 / 20

Two long parallel wires are at a distance 2d apart. They carry steady equal currents flowing out of the plane of the paper, as shown in figure. The variation of the magnetic field B along the line XX' is given by :-
दो लम्बे समान्तर तार एक दूसरे से 2d दूरी पर रखे है। इनमें उपस्थित दिष्ट धारा का मान समान है जो कि कागज के तल के लम्बवत् बाहर की ओर प्रवाहित है जैसा कि चित्र में दर्शाया गया है। रेखा XX' के अनुदिश चुम्बकीय क्षेत्र परिवर्तन के लिये उपयुक्त ग्राफ चुनिये :

17 / 20

The equation of line on which magnetic fieled is zero due to system of two perpendicular infinetely long current carrying straight wires, is :-
दो परस्पर लम्बवत् अनन्त लम्बाई के सीधे धारावाही चालक तारों के कारण उस सरलरेखा का समीकरण ज्ञात करो जिस पर उपस्थित चुम्बकीय क्षेत्र शून्य प्राप्त होगा।

18 / 20

H+, He+ and O++ all having the same kinetic energypass through a region with is a uniform magneticfield perpendicular to their velocity. The masses ofH+, He+ and O++ are 1 amu, 4 amu and 16 amu respectively then :-
समान गतिज ऊर्जा के आयन H+. He+ व O++ समरूप चुम्बकीय क्षेत्र से गुजरते हैं। जिसकी दिशा उनके वेग दिशा के लम्बवत है। यदि इनके द्रव्यमान क्रमशः 1 a.m.u., 4 16. a.m.u तथा 16 a.m.u.
(a) H+ will be deflected most
H+ सर्वाधिक विक्षेपित होगा।
(b) O++ will be deflected most
O+ सर्वाधिक विक्षेपित होगा।
(c) He+ and O++ will be deflected equally
He+ तथा O++ समान विक्षेपित होंगे
(d) all will be deflected equally
सभी समान विक्षेपित होंगे।

19 / 20

A circular conducting loop is connected by a battery according to figure. The length of ABC and ADC is \l _{1} and \l _{2} respectively then which is correct :-
एक वृताकार चालक लूप को चित्रानुसार बैटरी से संयोजित किया जाता है। भाग ABC की लम्बाई \l _{1} व ADC की लम्बाई \l _{2} है,

20 / 20

A steady eletric current is flowing through a cylindrical wire :-
एक स्थिर विद्युत धारा किसी बेलनाकार चालक तार से प्रवाहित है
(a) the electric field at the axis of wire is zero
विद्युत क्षेत्र चालक तार की अक्ष पर शून्य होता है।
(b) the magnetic field at the axis of wire is zero
चुम्बकीय क्षेत्र चालक तार की अक्ष पर शून्य होता है।
(c) the electric field in the vicinity of wire is Zero.
विद्युत क्षेत्र चालक तार के आस-पास शून्य होता है।
(d) the magnetic field in the vicinity of wire is Zero.
चुम्बकीय क्षेत्र चालक के आस-पास शून्य होता है ।

Your score is

The average score is 18%

0%




Welcome to the online physics test series for the NEET & JEE entrance exam. On this page you can find chapter wise physics mock tests for the NEET & JEE  exam. Practicing physics questions is very important as it helps in clear the concepts over a period of time. With these NEET & JEE physics questions, you can get a boost in your confidence when it comes to problem-solving in physics.

  • The test is of 20-minutes duration and it contains 20 Questions.
  • Practicing such tests would give you added confidence while attempting your exam.
  • Why wait to take the test and get an instant evaluation.

Leave a Comment

Your email address will not be published.

You cannot copy content