0%
4

All The Best

All The Best


Created on

Physics

MAGNETIC EFFECT OF CURRENT AND MAGNETISM

MAGNETIC EFFECT OF CURRENT AND MAGNETISM TEST - 11

1 / 20

Which of the following conclusions can be drawn from the result ? \oint \vec{B}.d\vec{A}=O
परिणाम \oint \vec{B}.d\vec{A}=O से निम्न में से कौनसा निष्कर्ष निकाल जाता है।

2 / 20

A beam of electrons moving along +y direction entrers in a region of uniform electric and magnetic fields. If the beam goes undeflected through this region then field (B) and (E) are directed respectively:-
एक इलैक्ट्रॉन पुँज +y के अनुदिश गति करता हुआ समरूप विद्युत एवम् चुम्बकीय क्षेत्र के भाग में प्रवेश करता है। यदि पुँज इस भाग से अविक्षेपित गुजरे तो चुम्बकीय क्षेत्र B विद्युत क्षेत्र E की दिशा क्रमशः होगी

3 / 20

A and B are two wires carrying a current I in the same direction. x and y are two electron beams moving in the same direction. There will be :-
A तथा B दो चालक तार हैं। इनमें समान दिशा में धारा प्रवाहित हो रही है। x तथा y समान दिशा में गतिशील दो इलेक्ट्रॉन पुँज हैं, तो यहाँ :

4 / 20

Two concentric coils each of radius equal to 2π cm. are placed at right angles to each other. The currets 3 A and 4 A are flowing in each coil respectively. The magnetic induction in weber/m2 at the centre of the coils will be :-
दो संकेन्द्रीय कुण्डलियां प्रत्येक की त्रिज्या 2π सेमी. है। दोनों के तल परस्पर लम्बवत् है। दोनों कुण्डलियों में क्रमशः 3 एम्पीयर एवं 4 एम्पीयर धारा प्रवाहित हो रही है। कुण्डलियों के केन्द्र पर चुम्बकीय क्षेत्र वेबर/मी में होगा

5 / 20

An elastic circular wire of length l carries a current I0. It is placed in a uniform magnetic field \vec{B} (out of paper) such that its plane is perpendicular to the direction of \vec{B} . The wire will experiences :-
I0 लम्बाई के एक वृत्ताकार तार में धारा प्रवाहित हो रही है। इसे एक समान चुम्बकीय क्षेत्र \vec{B} (पृष्ठ के बाहर की ओर) में इस प्रकार रखा गया है कि इसका तल चुम्बकीय क्षेत्र \vec{B} की दिशा के लम्बवत् है। यह तार अनुभव करेगा :

6 / 20

The value of magnetic susceptibility for super– conductors is :-
अतिचालक पदार्थों के लिए चुम्बकीय प्रवृत्ति का मान होता है

7 / 20

The area of hysteresis loop of a material is equivalent to 250 Joule/m3. When 10 kg material is magnetised by an alternating field of 50Hz then energy lost in one hour will be if the density of material is 7.5 gm/cm3.
किसी पदार्थ के शैथिल्य पाश का क्षेत्रफल 250 जूल के तुल्य है। पदार्थ के 10 किग्रा को 50Hz की आवृत्ति से चुम्बकित करने में एक घण्टे में ऊर्जा हानि का मान होगा यदि पदार्थ का घनत्व 7.5 ग्राम/सेमी 3 हो.

8 / 20

A coil in the shape of equilateral triangle of side 0.02 m is suspended from the vertex such that it is hanging in a vertical plane between the pole-pieces of a permanent magnet producing a horizontal magnetic field of 5x10—2 T. When a current of 0.1 A passes through it and the magnetic field is parallel to its plane then couple acting on the coil is :-
समबाहु त्रिभुजाकार कुण्डली की भुजा 0.02 मी. है। इसको एक सिरे से लटकाया गया है। यह कुण्डली एक स्थायी चुम्बक के ध्रुवों के मध्य स्थित लम्बवत् तल (क्षैतिज चुम्बकीय क्षेत्र = 5 x 10—2 टेसला) में लटक रही है। यदि 0.1 एम्पीयर की धारा कुण्डली में प्रवाहित हो तथा चुम्बकीय क्षेत्र इसके तल के समांतर हो तो कुण्डली पर कार्यरत बल युग्म होगा:

9 / 20

The cyclotron frequency of an electron gyrating in a magnetic field of 1T is approximately :-
एक इलेक्ट्रॉन की 1 टेसला चुम्बकीय क्षेत्र में परिभ्रमण की साइक्लोट्रॉनी आवृत्ति लगभग होगी :

10 / 20

The correct I–H curve for paramagnetic materials is :-
अनु- चुम्बकीय पदार्थों के लिए I -H वक्र है

11 / 20

In a mass spectrograph O++, C+, He++ and H+ are projected on a photographic plate with same velocity in uniform magnetic field then which will strike the plate farthest :-
एक द्रव्यमान स्पेक्ट्रोग्राफ में O++, C+ ,He++ एवं H+ को फोटोग्राफिक प्लेट पर समान वेग से समरूप चुम्बकीय क्षेत्र में प्रक्षेपित किया जाता है, तो कौनसा प्लेट पर सबसे ज्यादा दूर टकरायेगा :

12 / 20

The magnetic susceptibility of a paramagnetic substance is 3 × 10–4. It is placed in a magnetising field of 4 × 104 A/m. The intensity of magnetisation will be:-
एक अनुचुम्बकीय पदार्थ की चुम्बकीय प्रवृत्ति 3 ×10–4 है। इसे 4x104 ए/मी के चुम्बकन क्षेत्र में रखा जाता है। पदार्थ की चुम्बकन तीव्रता होगी :

13 / 20

The total magnetic flux in a material of area A, which produces a pole of strength mp when placed in a magnetic field of strength H, will be :-
पदार्थ के कुल चुम्बकीय फ्लक्स का मान, जब A काट क्षेत्रफल के चुम्बकीय पदार्थ को चुम्बकीय क्षेत्र H में रखा जाता है। तब पदार्थ में mp ध्रुव प्रबलता का प्रेरण उत्पन्न होता है, होगा:

14 / 20

In accordance with Ampere's law of force the direction of force \vec{F} , magnetic induction \vec{B} and current element I d\vec{L} are best represented by :-
एम्पियर के बल के नियमानुसार, बल (\vec{F}), चुम्बकीय प्रेरण (\vec{B}) तथा धारा अल्पांश (Id\vec{L}) की दिशा, को श्रेष्ठ तरीके से प्रदर्शित किया जाता है।

15 / 20

The volume susceptibility of a magnetic material is 30 × 10–4. Its relative permeability will be :-
किसी चुम्बकीय पदार्थ की आयतन चुम्बकीय प्रवृत्ति 30 ×10–4 है इसकी आपेक्षिक पारगम्यता होगी

16 / 20

An ionised gas contains both positive and negative ions. If it is subjected simultaneously to an electric field along the + x direction and a magnetic field along the + z direction then :-
एक आयनित गैस में धनात्मक एवं ऋणात्मक दोनों प्रकार के आयन है। यदि इस पर एक साथ विद्युत एवं चुम्बकीय क्षेत्र क्रमश: + x दिशा एवं +z दिशा में आरोपित किए जायें तो :

17 / 20

A uniform electric field and a uniform magnetic field are acting along the same direction in a certain region. If an electron is projected along the direction of the fields with a certain velocity then :-
एक समरूप विद्युत क्षेत्र एवं समरूप चुम्बकीय क्षेत्र किसी स्थान पर समान दिशा में कार्यरत है। यदि एक इलेक्ट्रॉन क्षेत्रों की दिशा में प्रक्षेपित किया जाये तो :

18 / 20

The coercivity of a bar magnet is 100A/m. It is to be demagnetised by placing it inside a solenoid of length 100 cm and number of turns 50. The current flowing the solenoid will be :-
एक छड़ चुम्बक की निग्राहिता 100 ए/मी है। इसके 100 सेमी लम्बी तथा 50 फेरों वाली परिनालिका में रखकर विचुम्बकित करना है। परिनालिका में प्रवाहित विद्युत धारा का मान होगा :

19 / 20

A straight wire carries a current vertically upwards. A point P lies to the east of it at a small distance and another point Q lies to the west at the same distance. The magnetic field at P is (consider earth field) :-
एक उर्ध्वाधर सीधे चालक तार में ऊपर की ओर धारा प्रवाहित होती है। एक बिन्दु P इससे कुछ दूरी पर पूर्व की ओर स्थित है तथा दूसरा बिन्दु Q समान दूरी पर पश्चिम की ओर स्थित है। P पर चुम्बकीय क्षेत्र होगा (भू चुम्बकत्व को मानते हुए)

20 / 20

Figure shows the path of an electron in a region of uniform magnetic field. The path consists of two straight sections, each between a pair of uniformly charged plates and two half-circles. The plates are named 1, 2, 3 & 4 then :-
चित्र में एक गतिशील इलेक्ट्रॉन के गति का पथ एक समान चुम्बकीय क्षेत्र में दर्शाया गया है। पथ के निर्माण में दो सरल रेखीय भाग है जो कि प्रत्येक एक समानरूप से आवेशित समानान्तर प्लेटों के बीच से गुजर रहा है तथा पथ में दो अर्द्धवृत्ताकार भाग है। प्लेटों के नाम क्रमशः 1, 2, 3 तथा 4 है तो :

Your score is

The average score is 26%

0%




Welcome to the online physics test series for the NEET & JEE entrance exam. On this page you can find chapter wise physics mock tests for the NEET & JEE  exam. Practicing physics questions is very important as it helps in clear the concepts over a period of time. With these NEET & JEE physics questions, you can get a boost in your confidence when it comes to problem-solving in physics.

  • The test is of 20-minutes duration and it contains 20 Questions.
  • Practicing such tests would give you added confidence while attempting your exam.
  • Why wait to take the test and get an instant evaluation.

1 thought on “MAGNETIC EFFECT OF CURRENT AND MAGNETISM ONLINE TEST – 11”

Leave a Comment

Your email address will not be published.

You cannot copy content