0%
2

All The Best


Created on By aajkatopper

Physics

ALTERNATING CURRENT

ALTERNATING CURRENT TEST - 6

1 / 20

If an alternating current i = im sin ωt is flowing through an inductor then voltage drop ΔVL across inductor L will be :-
यदि प्रत्यावर्ती धारा i = im sin ωf एक प्रेरकत्व में प्रवाहित है तो प्रेरकत्व L के सिरों पर विभव पतन ΔVL होगा:

2 / 20

The self inductance of a choke coil is 10 mH. when it is connected with a 10 V D.C. source, then the loss of power is 20 watt. When it is connected with 10 volt A.C. source loss of power is 10 watt. The frequency of A.C. source will be :
एक चोक कुण्डली का स्वप्रेरण गुणांक 10mH है जब इसे 10 वोल्ट के एक दिष्ट धारा स्त्रोत से जोड़ा जाता है तो इसमें शक्ति व्यय 20 वॉट होता है। 10 वोल्ट के प्रत्यावर्ती स्त्रोत से जोड़ने पर इसमें औसत शक्ति का व्यय 10 वॉट होता है तो प्रत्यावर्ती धारा स्त्रोत की आवृति है

3 / 20

In the circuit shown in the figure, the A.C. source gives a voltage V = 20 cos (2000 t) volt neglecting source resistance, the voltmeter and ammeter readings will be :
चित्र में दिखाए अनुसार परिपथ में, A.C. स्रोत एक वोल्टता V = 20cos(2000 t) देता है। स्रोत प्रतिरोध नगण्य है, वोल्टमीटर व अमीटर के पाठ्यांक होंगे :

4 / 20

In the L-C circuit shown in figure, the current is in direction shown in the figure and charges on the capacitor plates have sign shown in the figure. At this time :-
चित्र में एक L-C परिपथ प्रदर्शित है जिसमें धारा की दिशा तथा संधारित्र की प्लेटों पर आवेश चिन्ह सहित दर्शाये गए हैं। इस समय पर :

5 / 20

The graph shows current v/s voltage in a series RLC A.C. circuit. The arrow indicates the direction that this curve is drawn as time progresses. In this plot, the
चित्र में एक श्रेणी RLC प्रत्यावर्ती परिपथ के लिये धारा व वोल्टता के मध्य आलेख प्रदर्शित किया गया है। यहाँ तीर का निशान समय के साथ वक्र की दिशा को इंगित करता है। इस आलेख में

6 / 20

A student connects a long air cored - coil of manganin wire to a 100 V D.C. supply and records a current of 25 amp. When the same coil is connected across 100 V. 50 Hz a.c. the current reduces to 20 A , the reactance of the coil is :-
एक विद्यार्थी, लम्बी वायु क्रोड कुण्डली (मैंगनीन तार की बनी) को 100 VD.C. से जोड़ता है तो 25 A धारा का मापन करता है। यदि इसे 100V, 50Hz A.C. से जोड़ता है तो धारा घट कर 20 A रह जाती है तो कुण्डली का प्रतिघात है:

7 / 20

When 100V D.C. is applied across a coil a current of 1A flows through it. When 100V A.C. of 50 Hz is applied to the same coil only 0.5A flows. The inductance of the coil is :-
जब एक कुण्डली के सिरों पर 100 वोल्ट D. C. आरोपित की जाती है, तो इसमें होकर 1A धारा प्रवाहित होती है। जब समान कुण्डली पर 100 वोल्ट 50Hz आवृत्ति वाली A.C. आरोपित की जाती है, तो केवल 0.5A धारा बहती है प्रेरकत्व है :

8 / 20

If frequency of alternating source is made zero then which of the following statement is true :
यदि प्रत्यावर्ती धारा स्त्रोत की आवृत्ति शून्य हो जाये तो निम्न में से कौनसा कथन सत्य है :

9 / 20

For a series LCR circuit the power loss at resonance is :-
श्रेणी LCR परिपथ के लिए अनुनाद के समय शक्ति हानि होती है :

10 / 20

A capacitor of capacitance 2 μF is connected in the tank circuit of an oscillator oscillating with a frequency of 1 kHz. If the current flowing in the circuit is 2 mA,
the voltage across the capacitor will be:–
2μF की धारिता का एक संधारित्र किसी दोलित्र के टैंक परिपथ से जोड़ा गया है जिसकी दोलन-आवृति 1 kHz है। में प्रवाहित धारा 2 mA है

11 / 20

A coil has an inductance of 0.7 henry and is joined in series with a resistance of 220 Ω. When the alternating emf of 220 V at 50 Hz is applied to it then the phase through which current lags behind the applied emf and the wattless componenet of current in the circuit will be respectively
0.7 हेनरी प्रेरकत्व वाली कुण्डली को 22052 प्रतिरोध के साथ श्रेणी क्रम में जोड़ा गया है। जब इसे 220Ω व 50 Hz के प्रत्यावर्ती स्त्रोत से जोड़ा जाता है तो धारा, आरोपित वि.वा.बल से कितनी कला पीछे रहती है व धारा का वॉटहीन भाग क्रमश: होंगें -

12 / 20

If the current through an inductor of inductance L is given by I = I0 sinωt, then the voltage across inductor will be :-
यदि एक L प्रेरकत्व वाली कुण्डली में धारा I = Io sinωt है, उसके सिरों के मध्य विभवान्तर होगा:

13 / 20

The diagram shows a capacitor C and a resistor R connected in series to an AC source, V1 and V2 are voltmeters and A is an ammeter. Consider now the following statements :
चित्र में एक संधारित्र C और एक R, श्रेणीक्रम में एक प्रत्यावर्ती स्रोत से जोड़े गये है। V1, V2 वोल्टमीटर तथा A अमीटर है
(I) Readings in A and V2 are always in phase
A तथा V2 का पाठ्यांक समान कला में है।
(II) Reading in V1 is ahead with reading in V2
V, का पाठ्यांक की कला V2 से आगे है।
(III) Readings in A and V1 are always in phase Which of these statements are is correct :
A तथा V1 का पाठयांक सदैव समान कला मे है

14 / 20

An inductor and a resistor in series are connected to an A.C. supply of variable frequency. As the frequency of the source is increased, the phase angle between current and the potential difference across source will be :
एक प्रेरकत्व कुण्डली और एक प्रतिरोध को प्रत्यावर्ती धारा स्रोत से श्रेणीक्रम में जोड़ा जाता है। स्रोत की आवृत्ति बढ़ायी जाती है। तो धारा तथा स्त्रोत के सिरों पर विभवांतर के बीच कलान्तर :

15 / 20

An alternating emf of angular frequency ω is applied across an inductance. The instantaneous power developed in the circuit has an angular frequency:
ωकोणीय आवृत्ति के प्रत्यावर्ती वि. वा. बल को प्रेरकत्व पर आरोपित किया जाता है, तो परिपथ में तात्क्षणिक शक्ति की कोणीय आवृत्ति होगी।

16 / 20

As given in the figure, a series circuit connected across a 200 V, 60 Hz line consists of a capacitor of capacitive reactance 30 Ω, a non-inductive resistor of 44 Ω, and a coil of inductive reactance 90Ω and resistance 36Ω. The power dissipated in the coil is
चित्र में एक श्रेणीक्रम परिपथ दर्शाया गया है। जिसमें 200 V, 60Hz लाईन को 30Ω धारितीय प्रतिघात वाले संधारित्र, 44Ω के एक अप्रेरकीय प्रतिरोध तथा 36Ω प्रतिरोध व 90Ω प्रेरकीय प्रतिघात वाली कुण्डली से चित्रानुसार जोड़ा गया है। कुण्डली में व्ययित शक्ति होगी

17 / 20

If an alternating current i = im sin ωt is flowing through a capacitor then voltage drop ΔVC across capacitor C will be ?
यदि प्रत्यावर्ती धारा i = im sin ωt एक संधारित्र में प्रवाहित है तो संधारित्र C के सिरों पर विभवपात ( ΔVC) होगा :

18 / 20

The switch in the circuit pictured is in position a for a long time. At t = 0 the switch is moved from a to b. The current through the inductor will reach its first maximum after moving the switch in a time:-
दर्शाये गये परिपथ में कुंजी लम्बे समय के लिये स्थिति में है। t = 0 समय पर कुंजी को a से हटाकर b पर जोड़ा जाता है। कुंजी के बदलने के बाद कितने समय में प्रेरक कुण्डली से प्रवाहित धारा अपने प्रथम अधिकतम मान तक पहुंच जायेगी।

19 / 20

A 60 µF capacitor is charged to 100 volts. This charged capacitor is connected across a 1.5 mH coil, so that LC oscillations occur. The maximum current in the coil is :-
60 μF के संधारित्र को 100 वोल्ट से आवेशित किया जाता है। इस आवेशित संधारित्र को 1.5mH की कुण्डली के सिरो पर इस प्रकार जोड़ा जाता है ताकि LC दोलन हो। कुण्डली में अधिकतम धारा होगी।

20 / 20

A 1.5 µF capacitor is charged of 60 V. The charging battery is then disconnected and a 15 mH coil is connected in series with the capacitor so that LC oscillations occurs. Assuming that the circuit contains no resistance. The maximum current in this coil shall be close to
एक 1.5 µF वाले संधारित्र को 60 V से आवेशित किया गया है। आवेशित बैटरी को विच्छेदित कर दिया जाता है तथा 15 mH वाली कुण्डली को संधारित्र के साथ श्रेणीक्रम में इस प्रकार जोड़ा जाता है कि LC दोलन हो। मान लीजिये कि परिपथ कोई प्रतिरोध नहीं रखता है तो कुण्डली में अधिकतम धारा होगी

Your score is

The average score is 15%

0%




Welcome to the online physics test series for the NEET & JEE entrance exam. On this page you can find chapter wise physics mock tests for the NEET & JEE  exam. Practicing physics questions is very important as it helps in clear the concepts over a period of time. With these NEET & JEE physics questions, you can get a boost in your confidence when it comes to problem-solving in physics.

  • The test is of 20-minutes duration and it contains 20 Questions.
  • Practicing such tests would give you added confidence while attempting your exam.
  • Why wait to take the test and get an instant evaluation.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content