0%
14

All The Best

All The Best


Created on By aajkatopper

Physics

Wave Optics

WAVE OPTICS TEST - 4

1 / 20

In the laboratory, diffraction of light by a single slit is being observed. If slit is made slightly narrow, then diffraction pattern will :
प्रयोगशाला में एक रेखा छिद्र द्वारा प्रकाश का विवर्तन देखा जा रहा है। यदि रेखा छिद्र थोड़ा तंग कर दिया जाये तो विवर्तन प्रतिरूप

2 / 20

In Young's double slit experiment when wavelength of 700 nm is used then fringe width of 0.7 mm is obtained. If wavelength of 500nm is used then what is the fringe width?
यंग द्विस्लिट प्रयोग में फ्रिन्ज चौड़ाई 0.7mm प्राप्त होती है जब तरंग दैर्ध्य 700nm प्रयोग लेते हैं। यदि 500nm की तरंगदैर्ध्य

3 / 20

The conversation going on, in some room, can be heared by the person outside the room. The reason for it is :
किसी कमरे में होने वाली बातचीत कमरे के बाहर खड़े व्यक्ति को सुनाई पड़ती है। इसका कारण है

4 / 20

Light waves do not travels strictly in straight line, can be best explained by :
प्रकाश पूर्णत: सरल रेखा में संचरित नहीं होता है, इसे समझा सकते हैं -

5 / 20

In a Fraunhofer's diffraction obtained by a single slit aperture, the value of path difference for nth order of minima is :
एक रेखा छिद्र से प्राप्त फ्रॉनहॉफर विवर्तन में nth वें निम्निष्ठ के लिए पथान्तर का मान होता है

6 / 20

Diffracted fringes obtained from the slit aperture are of :-
रेखा छिद्र से प्राप्त विवर्तन फ्रिंजे होती है

7 / 20

Phenomenon of diffraction occurs :
विवर्तन की घटना होती है

8 / 20

Which of the following ray gives more distinct diffraction :
निम्न में से किन तरंगों का विवर्तन सबसे अधिक स्पष्ट होगा

9 / 20

In an interference experiment, third bright fringe is obtained at a point on the screen with a light of 700 nm. What should be the wavelength of the light in order to obtain 5th bright fringe at the same point ?
व्यतिकरण प्रयोग में, पर्दे पर एक बिंदु पर तृतीय चमकीली फ्रिन्ज 700nm तंरग दैर्ध्य से प्राप्त हो रही है तो उसी बिन्दु पर 5 वीं चमकीली फ्रिन्ज प्राप्त करने के लिए प्रकाश की तंरगदैर्ध्य क्या होनी चाहिये?

10 / 20

Bending of light waves at the sharp edges of an opaque obstacle is known as
अपारदर्शी अवरोध के तीखे किनारे पर प्रकाश तरंगों के मुड़ने को कहते हैं

11 / 20

Angular width (θ) of central maximum of a diffraction pattern of a single slit does not depend upon :
एकल स्लिट विवर्तन प्रतिरूप में केन्द्रिय उच्चिष्ठ कि कोणीय चौड़ाई (θ) निर्भर नहीं करती है :

12 / 20

In a single slit diffraction pattern, if the light source is used of less wave length then previous one. Then width of the central fringe will be :
एकल स्लिट विवर्तन प्रक्रिया में यदि पहले से छोटी तरंगदैर्ध्य का प्रकाश प्रयुक्त किया जाये तो केन्द्रीय दीप्त फ्रिन्ज की चौड़ाई

13 / 20

What will be the effect on fringe width, when distance between slits become doubled-
यंग के प्रयोग में स्लिटों के मध्य की दूरी को दुगुना करने पर फ्रिंज चौड़ाई पर क्या प्रभाव पड़ेगा?

14 / 20

The phenomenon of diffraction of light was discovered by :
प्रकाश के विवर्तन की घटना के खोजकर्ता थे

15 / 20

In the diffraction pattern of a single slit aperture, the width of the central fringe compared to widths of the other fringes, is :
एकल रेखा छिद्र के विवर्तन प्रारूप में केन्द्रीय फ्रिन्ज की चौड़ाई अन्य फ्रिन्जों की चौड़ाई

16 / 20

What happens, when the width of the slit aperture is increased in an experiment of single slit diffraction experiment :
एक रेखा छिद्र से उत्पन्न विवर्तन के प्रयोग में यदि रेखा छिद्र की चौड़ाई को बढ़ा दिया जाये तो

17 / 20

A monochromatic beam of light is used for the formation of fringes on the screen by illuminating the two slits in the Young's double slit interference experiment. When a thin film of mica is interposed in the path of one of the interfering beams then :
यंग के द्वि-छिद्र व्यतिकरण प्रयोग में एकवर्णी प्रकाश पुंज का प्रयोग पर्दे पर फ्रिन्ज बनाने में किया जाता है। जब किसी एक व्यतिकारी पुंज के पथ में एक पतली अभ्रक की फिल्म को प्रविष्ट कराया जाये तो

18 / 20

Central fringe obtained in diffraction pattern due to a single slit :
एक स्लिट के विवर्तन प्रतिरूप में प्राप्त केन्द्रीय फ्रिन्ज होती है

19 / 20

Monochromatic green light has wavelength 5 × 10–7 m. The separation between slits is 1 mm. The fringe width of interference patern obtained on screen at a distance of 2 meter is :
एकवर्णी हरे प्रकाश की तरंगदैर्ध्य 5x10-7m है के बीच की दूरी 1 mm है 2 m दूर स्थित पर्दे पर प्राप्त व्यतिकरण प्रतिरूप में फ्रिन्ज चौड़ाई होगी:

20 / 20

All fringes of diffraction are of :
विवर्तन की फ्रिन्जें प्राप्त होती है

Your score is

The average score is 15%

0%




Welcome to the online physics test series for the NEET & JEE entrance exam. On this page you can find chapter wise physics mock tests for the NEET & JEE  exam. Practicing physics questions is very important as it helps in clear the concepts over a period of time. With these NEET & JEE physics questions, you can get a boost in your confidence when it comes to problem-solving in physics.

  • The test is of 20-minutes duration and it contains 20 Questions.
  • Practicing such tests would give you added confidence while attempting your exam.
  • Why wait to take the test and get an instant evaluation.

Leave a Comment

Your email address will not be published.

You cannot copy content