Electrostatics Online Test – 3




0%
12

All The Best

All The Best


Created on

Physics

Electrostatics Test - 3

Complete Electrostatics.

1 / 18

Positive and negative charges of equal magnitude lie along the symmetry axis of a cylinder. The distance from the positive charge to the left endcap of the cylinder is the same as the distance from the negative charge to the right end cap.The sign of the flux through the right end-cap of
the cylinder is :
cylinder is :
समान परिमाण वाले धनात्मक व ऋणात्मक आवेश बेलन की सममित अक्ष के अनुदिश स्थित है। बार्यों ओर वाले धन आवेश की बेलन के बायें अन्त्य फलक से दूरी, ऋण आवेश की दायें अन्त्य फलक से दूरी के बराबर है। बेलन के दायें अन्त्य फलक से गुजरने वाले फ्लक्स का चिन्ह होगा

2 / 18

Three identical charges are placed at corners of an equilateral triangle of side L . If force between any two charges is F, the work required to double
the separation between charges of triangle is :-
एक जैसे तीन आवेश, L भुजा वाले समबाहु त्रिभुज के कोनों पर रखे हुए हैं। यदि किन्ही दो आवेशों के बीच बल F है, अन्तराल दुगना करने के लिये आवश्यक  तो आवेशों के बीच कार्य होगा :

3 / 18

Four arrangements are given of three fixed electric charges. In each arrangement, a point labeled P is also identified — test charge, +q, is placed at
point P. All of the charges are of the same magnitude Q, but they can be either positive or negative as indicated. The charges and point P all lie on a straight line. The distances between two adjacent charges or between a charge and point P, are all the same. Correct order of choices in a decreasing order of magnitude of force on change placed at P is :
तीन स्थिर विद्युत आवेशों की चार व्यवस्थाओं को चित्र में दर्शाया गया है। प्रत्येक व्यवस्था में परीक्षण आवेश को +q बिन्दु P पर रखा गया है। सभी आवेशों के परिमाण Q समान हैं परन्तु इन्हें धनात्मक अथवा ऋणात्मक चिन्ह द्वारा इंगित किया गया है। आवेश तथा बिन्दु P एक सरल रेखा पर स्थित हैं। आवेशों या आवेश व बिन्दु P के मध्य दूरीयाँ समान है। P पर रखे हुए बिन्दु आवेश पर बल के परिमाण का घटते हुए क्रम में सही विकल्प है

4 / 18

Two concentric spheres of radii R and 2R are charged. The inner sphere has a charge of 1µC and the outer sphere has a charge of 2µC of the same sign. The potential is 9000 V at a distance 3R from the common centre. The value of R is :-
R व 2R त्रिज्या वाले दो सकेन्द्रीय गोले आवेशित किये गये है। आन्तरिक गोले पर आवेश 1µC तथा बाह्य गोले पर समान चिन्ह वाला 2µC आवेश है। उभयनिष्ठ केन्द्र से 3R दूरी पर विभव 9000 V है। R का मान होगा :

5 / 18

Five point charges (+q each) are placed at the five vertices of a regular hexagon of side 2a. What is the magnitude of the net electric field at the centre of the hexagon :
पाँच बिन्दु आवेश (प्रत्येक +q), 2a भुजा वाले समषट्भुज के पाँच कोनों पर रखे हुए हैं। षट्भुज के केन्द्र पर कुल विद्युत क्षेत्र का परिमाण कितना होगा

6 / 18

Charges 2q and –q are placed at (a, 0) and (–a, 0) as shown in the figure. The coordinates of the point at which electric field intensity is zero will be (x, 0) then :-
आवेश 2q व –q, क्रमश: (a, 0) व (-a, 0) पर चित्र में दर्शाये अनुसार रखे हुये हैं। जहाँ विद्युत क्षेत्र की तीव्रता शून्य है उस बिन्दु के निर्देशांक (x, 0) हैं, तो :

7 / 18

Three concentric metallic spherical shells of radii R, 2R, 3R, are given charges Q1, Q2, Q3, respectively. It is found that the surface charge densities on the outer surfaces of the shells are equal. Then, the ratio of the charges given to the shells, Q1 : Q2 : Q3, is
R, 2R, 3R त्रिज्या वाले तीन संकेन्द्रीय गोलीय कोशों को क्रमश: Q1, Q2, Q3 आवेश दिये गये हैं। यह पाया गया है कि गोलों की बाहरी सतहों पर पृष्ठ आवेश घनत्व समान है। गोलों को दिये गये आवेशों का अनुपात Q1 : Q2 : Q है:

8 / 18

Figure shows three charged circular arcs, each of radius R, their centres are at same point and total charge as indicated. The net electric potential at the centre of curvature :-
चित्र में तीन आवेशित चाप दर्शाये गये हैं। प्रत्येक की त्रिज्या R है, इनके केन्द्र एक ही बिन्दु पर हैं तथा इन पर आवेश दर्शाये अनुसार हैं। वक्रता केन्द्र पर कुल वैद्युत विभव है

9 / 18

A proton, a deuteron and an alpha particle are accelerated through potentials of V, 2 V and 4V respectively, then the ratio of their velocities is:-
एक प्रोटोन, एक ड्यूट्रोन व एक अल्फा कण को क्रमश: V, 2 V और 4V विभव से त्वरित किया गया है. तो तीनों के वेगों का अनुपात है :

10 / 18

A charge (–q, m) is projected with initial velocity V0 in the direction of unidirectional field E0 x as shown in figure. Find distance covered by charge
before it comes to rest.
एक '–q' आवेश व m द्रव्यमान के कण को V0 प्रारम्भिक वेग से चित्रानुसार E0 x  एकदिशीय विद्युत क्षेत्र में प्रक्षेपित किया '0' गया है। आवेश द्वारा विरामावस्था में आने से पूर्व तय दूरी होगी:

11 / 18

Four electric dipoles each of charges ± e are placed inside a sphere. The total electric flux of coming out of the sphere is :-

± e आवेशों वाले चार वैद्युत द्विध्रुवों गोले के अंदर रखा गया है। गोले से कुल निर्गमित फ्लक्स है:

12 / 18

In moving from A to B along an electric field line, the work done by the electric field on an electric is 6.4 × 10–19 J. If Φ1 and Φ2 are equipotential surface, then the potential difference VC – VA is:
एक इलेक्ट्रॉन को विद्युत बल रेखा के अनुदिश A तक गति करने में विद्युत क्षेत्र द्वारा किया गया 6.4 × 10–19 J है। यदि Φ1 तथा Φ2 समविभव सतहें है, विभवान्तरVC – VA है:

13 / 18

1000 drops of same size are charged to a potential of 1 V each. If they coalesce to form a single drop, its potential would be :-
समान आकार वाली 1000 बूंदों में प्रत्येक पर 1V विभव तक आवेशित किया गया है। यदि वे मिलकर एक बूंद बना लेती हैं, तो इसका विभव होगा :

14 / 18

An electrical charge 2 × 10–8 C is placed at the point (1, 2, 4)m. Then at the point (4, 2, 0)m,
एक विद्युत आवेश 2 × 10–8 C बिन्दु ( 1, 2, 4)m पर रखा है तो बिंदु (4, 2, 0)m पर :

15 / 18

A solid sphere of radius R has charge 'q' uniformly distributed over its volume. The distance from its surface at which the electrostatic potential is
qual to half of the potential at the centre is :-
R त्रिज्या वाले ठोस गोले के सम्पूर्ण आयतन में 9 प आवेश एकसमान रूप से वितरित है। इसकी सतह से वह दूरी जहाँ पर स्थिरवैद्युत विभव, इसके केन्द्र पर विभव का आधा होगा,

16 / 18

A point charge q is kept at A. The potential at point P at distance r from it is V and twice of this charge is distributed uniformly on the surface of a hollow sphere of radius 4r with centre at point A, the total otential at point P is :-
एक बिंदु आवेश q, A पर रखा हुआ है। इससे r दूरी पर स्थित बिंदु P पर विभव V है और इस आवेश का दुगना आवेश 4r त्रिज्या वाले गोलीय कोश पर एकसमान रूप से वितरित है, जिसका केन्द्र A पर ही है, बिन्दु P पर कुल विभव होगा

17 / 18

Two large conducting sheets are kept parallel to each other as shown. In equilibrium, the charge density on facing surfaces is σ1 and σ2  (σ1 > 0).
What is not the value of electric field at A.
दो बड़ी चालक पट्टिकाओं को चित्र में दर्शाये अनुसार एक-दूसरे के समान्तर रखा गया है। साम्यवस्था में, इनके सम्मुख फलकों पर आवेश घनत्व σ1 व σ21 > 0) है। A पर विद्युत क्षेत्र का मान नहीं होगा:

18 / 18

Mark the correct option :
सही कथन चुनिए

Your score is

The average score is 25%

0%




Leave a Comment

Your email address will not be published.

You cannot copy content